Breaking News

आखिर कब सुलझेगी नेपाली मटर की तस्करी की गुत्थी

Ibn न्यूज़

महराजगंज

जनपद महराजगंज में लगभग चार महीने से नेपाली मटर के तस्करी की चर्चा जोरों पर है मटर लदी गाड़िया जनपद के भिन्न भिन्न हिस्सों जैसे सिसवा ,घुघली,निचलौल,सबया सहित कई स्थानों पर मिले जाँच भी हुई कार्यवाही भी हुई लेकिन क्या मुख्य अभियुक्त अभी भी कार्यवाही से अलग है या उसे किसी का संरक्षण प्राप्त है।यह तो जिम्मेदार लोग ही बता सकते है ।लेकिन यह प्रश्न उठना इसलिए भी लाजमी है क्योंकि अगर कार्यवाही में मुख्य अभियुक्त है तो फिर यह कनाडियन मटर नेपाल के रास्ते कैसे आ रहा है ।इसी तरह का एक मामला और आश्चर्य में डाल देता है कि मटर लदी पिकअप तस्कर चकमा देकर छुड़ा ले फरार हो गए ।

घटना आज की है जब नेपाल से अवैध तरीके से कैनेडियन मटर की तस्करी  को रोकने के लिए   एआरटीओ आरसी भारती ने अभियान चलाया।जिसकी पूर्व सूचना उन्हें मिल चुकी थी सिंदूरिया थाना अंतर्गत निचलौल-चिउटहा मार्ग पर पहुंच रास्ते से गुजरने वाले सभी वाहनों की जांच-पड़ताल शुरू कर दिया। इस दौरान आठ पिकअप पर विदेशी मटर लदा मिला। इन सभी गाड़ियों का फोटो लेकर एआरटीओ अपने चालक के साथ कोतवाली भेज दिए। इसमें से विदेशी मटर लदे पिकअप को तस्कर छुड़ा ले गए। एआरटीओ ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने की कार्रवाई शुरू कर दिया है। सभी आठ वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। तीन गाड़ी कोतवाली में बंद है। पांच के खिलाफ चालान किया गया है।निचलौल-चिउटहा मार्ग पर रात में तीन बजे के करीब पकड़ी गई गाड़ियों में से तीन ओवर स्पीड में फरार हो गई। लेकिन उन गाड़ियों का एआरटीओ ने फोटो ले लिया था। जिसके आधार पर कार्रवाई की गई। विदेशी मटर लदे दो पिकअप पर अपने चालक को बैठाकर कर एआरटीओ ने कोतवाली रवाना कर दिया। तीन गाड़ी को अपने कब्जे में लेकर आने लगे। इसी बीच एक बोलेरो व एक कार से आठ तस्कर सिन्दुरिया आए। पकड़ी गई दो गाड़ियों में से एक पर बैठे एआरटीओ के ड्राइवर को जबरन नीचे उतार अपनी कार में बैठा लिया। दो गाड़ियों को छुड़ाकर तस्कर उसे लेकर फरार हो गए। उसी बीच एआरटीओ पहुंच गए। जिन्हें देख तस्करों ने एआरटीओ के चालक को अपने गाड़ी से उतार दिया और भाग खड़े हुए। एआरटीओ ने बताया कि जो गाड़ी लेकर तस्कर भागे हैं उस गाड़ी के नंबर के आधार पर चालान किया जा चुका है। कुछ आठ गाड़ियों के खिलाफ कार्रवाई हुई है। इसमें से तीन गाड़ी कोतवाली में बंद हैं। पांच गाड़ियों का चालान किया गया है।

इतने बड़े प्रकरण में अधिकारियों की यह संवेदनहीनता कहीं न कहीं सवाल जरूर उठाता है कि आखिर क्या अधिकारियों की पकड़ से ज्यादा मजबूत पकड़ तस्करों की है ।

About IBN NEWS GORAKHPUR

Check Also

मवई अयोध्या – फेसबुक पर अश्लील भाषा का प्रयोग करने पर मुकदमा दर्ज

मुदस्सिर हुसैन IBN NEWS पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार कर भेजा जेल अयोध्या बाबा …