Breaking News

वर्षों पुराना पटवार भवन अपनी कहानी खुद बता रहा

 

बिल्डिंग देखरेख अभाव में जर्जर होने से कभी बडे हादसे को निमंत्रण दे सकता


सम्बंधित विभाग का मूकदर्शक बन बैठा लेकिन कोई ध्यान नहीं

बीगोद– कस्बे के पुराना पुलिस थाने के पास पटवार भवन अपनी कहानी खुद कह रहा। वर्षों पहले बना पटवार भवन देखरेख के अभाव में झज्जर अवस्था मैं होने से कभी भी बड़े हादसे को न्योता दे सकता है।

साथ ही पटवार भवन की छत बारिश के दिनो टपकती, फर्श टूटा व अव्यवस्थित है। मुख्य द्ववार की दिवार पर बडे खडडो हो रहे, सीमेंट प्लास्टर व रंगरोगन की दर किनार, दरवाजे टूटे पडे, व्यवस्थित फनीर्चर का अभाव, उपभोक्ताओं बैठने की व्यवस्था का अभाव, उपयोगी दस्तावेज सार संभाल व्यवस्था का अभाव होने से अनुपयोगी होने के साथ कभी भी बडे हादसे को नियंत्रण दे सकता।

सम्बंधित विभाग ध्यान देकर इस बिल्डिंग की सुध लेने से समय रहते बड़े हादसे से बचा जा सकता है। वर्तमान केवल एक पटवारी कार्यरत जो कि जनसंख्या के हिसाब से स्टाफ कम है।

भीलवाड़ा रोड पर राजीव गांधी सेवा कैन्द के पीछे करीब पाच वर्ष से बना भूअभिलेख कैन्द खाली पडा जो रोड के ठेकेदारों , मजदूरों के काम आ रहा।

अत ग्रामीणों का कहना है कि सम्बंधित अधिकारी पटवार भवन को समय रहते वहां से स्थानांतरित करने से बडे हादसे बचा जा सकेगा, पटवार भवन दस्तावेज भी सुरक्षित रहेगें। भू अभिलेख केंद्र जो लाखो रूपये से बना उसका उपयोग हो सकेगा।

(नायब तहसीलदार राहुल धागड ने बताया कि मरम्मत के लिए बजट का प्रस्ताव भेज रखा है। बजट आते काम शुरू हो जायेगा)

(फोट़ो कैप्सन-1-पुराने पुलिस थाने जर्जर पटवार भवन जो हादसे निमंत्रण देता
2– राजीव गांधी सेवा कैन्द मे बना भूअभिलेख कैन्द ठैकेदारो का आश्रय स्थल बना हुआ है)
फोटो प्रमोद कुमार गर्ग

इस न्यूज के दोनो फोटो लगाये सर

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

आगाल परिवार निवास पर कथा वाचक सत्कार करते

  बीगोद–कस्बे में चल रही भागवत कथा ,और नानी बाई को मायरो के कथा वाचक …