Breaking News

महिलाओं के विरुद्ध हिंसा उन्मूलन दिवस-शिक्षा के माध्यम हिंसा का प्रत्युत्तर दें

 

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट

फरीदाबाद:गवर्नमेंट मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल सराय ख्वाजा फरीदाबाद में प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में महिलाओं के विरुद्ध हिंसा उन्मूलन दिवस पर हिंसा और उन्मूलन का विरोध करने बारे जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।

यह कार्यक्रम जूनियर रेडक्रॉस,सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड एवम स्काउट्स और गाइड्स के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया। विद्यालय की जेआरसी एवं एसजेएबी अधिकारी प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि महिलाओं के विरुद्ध होने वाली हिंसा से उनके मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। भेदभाव, अशिक्षा,निर्धनता,एचआईवी अशांति आदि महिला हिंसा का प्रमुख कारण है।

इस दिवस का उद्देश्य ऐसे समाज का निर्माण करना है जहां महिलाओं के खिलाफ हिंसा ना हो और महिलाएं बिना किसी भेदभाव और दबाव के अपना जीवन जी सकें। यह दिवस मानने के लिए प्रत्येक वर्ष एक थीम भी निश्चित की जाती है।

इस वर्ष की थीम है एक्टिविज्म टू एंड वायलेंस अगेंस्ट वूमन एंड गर्ल्स। प्राचार्य मनचंदा ने बताया कि महिलाओं और लड़कियों के विरुद्ध हिंसा का स्वरूप विश्वव्यापी है।

महिलाओं और लड़कियों के विरुद्ध इस प्रकार की हिंसा विश्‍व में सबसे भयंकर,निरंतर और व्‍यापक मानव अधिकार उल्‍लंघनों में सम्मिलित है जिस का दंश विश्‍व में हर तीन में से एक महिला को भुगतना पड़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि इन हिंसा की अधिकांश घटनाएं प्रतिष्ठा,मौन,चुप्पी,कलंक और शर्म के कारण रिपोर्ट ही नहीं होती है। प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि सामान्य शब्दों में महिलाओं के विरुद्ध हिंसा शारीरिक शोषण,यौन शोषण और मनोवैज्ञानिक शोषण के स्वरूपों में प्रकट होती है।

इन स्वरूपों की घटनाओं में जीवन साथी के द्वारा हिंसा,शारीरिक हिंसा, मनोवैज्ञानिक दुर्व्यवहार,वैवाहिक बलात्कार,नशीला पदार्थ के सेवन हेतु मजबूर करना आदि भी सम्मिलित हैं यौन हिंसा और उत्पीड़न बलात्कार,यौन कार्य के लिए दबाव डालना,अवांछित यौन कार्य करवाना,बाल यौन शोषण, इच्छा के विरुद्ध विवाह,सड़क या कार्य स्थलों पर उत्पीड़न करना एवं पीछा करना,साइबर उत्पीड़न भी हिंसा के स्वरूप हैं।

प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा ने आह्वान किया कि स्वस्थ और उन्नत समाज के समाज के आधे वर्ग के लिए भी सभी प्रकार के अवसरों,‌ अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और समान अधिकार सुलभ हों। शिक्षा के माध्यम से महिलाएं अब प्रत्येक क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

36वें सूरजकुंड मेले का शुभारंभ करेंगे उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़:डीसी विक्रम सिंह

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट फरीदाबाद:डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि 3 फरवरी को भारत …