Breaking News

बहराइच – अनिश्चितकालीन सत्याग्रह आन्दोलन के 43वें दिन मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों के सब्र का बांध टूटा

*विधानसभा घेराव कर रहे मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को पुलिस प्रशासन ने किया गिरफ्तार*

*अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री संग अधिकारियों की बैठक के बाद भी नहीं निकला हल*

*राज्यांश बंद किये जाने की खबर के सदमे से एक माह में पांच शिक्षकों की मौत से मदरसा शिक्षकों में बढ रहा आक्रोश*

*सत्याग्रह आन्दौलन रहेगा जारी, मांगें पूरी न होने पर शिक्षक विधानसभा पर करेंगे आत्मदाह*

यह कैसी विडम्बना है कि एक तरफ जहाँ माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी *सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास सबका प्रयास* को लेकर चल रहे हैं वहीं उनके ही मंत्रिमण्डल की सहयोगी अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री स्मृति ईरानी ने मदरसों में बच्चों को शिक्षा देने वाले उत्तर प्रदेश के 21546 मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को पिछले छः सालों से अधिक समय से मानदेय/वेतन न देकर दाने-दाने को मोहताज कर दिया है | विगत छः सालों से मिल रहे कोरे आश्वासनों के चलते पिछले एक माह में पांच और अब तक 200 से अधिक मदरसा शिक्षकों की दर्दनाक मौतों से तंग भुखमरी का शिकार मदरसा शिक्षकों के बकाया वेतन और मदरसा आधुनिकीकरण योजना के नवीनीकरण को लेकर अल्पसंख्यक अधिकार दिवस 18 दिसम्बर से मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक एकता समिति उ0 प्र0 के बैनर तले लखनऊ के ईकोगार्डेन पर अनिश्चित कालीन विशाल धरना-प्रदर्शन शुरू कर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से न्याय की गुहार लगा रहे मदरसा शिक्षकों के सब्र का बांध शांतिपूर्ण तरह से चल रहे सत्याग्रह आन्दोलन के 43वें दिन आज टूट ही गया जब हल निकलता न देख मदरसा शिक्षक खुफिया तंत्र एवं पुलिस प्रशासन को चकमा देकर विधानसभा घेराव करने के लिये धरना स्थल से विधानसभा का घेराव करने पहुंच ही गये | विधानसभा का घेराव कर रहे मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को पुलिस प्रशासन ने गिरफ्तार कर वापस धरना स्थल पर छोड़ दिया इस दौरान पुलिस प्रशासन को मदरसा शिक्षकों के भारी विरोध का सामना भी करना पडा हालांकि मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों के सूझबूझ एवं शांतिपूर्ण प्रदर्शन से कोई अप्रिय घटना नहीं घटी | मदरसा शिक्षक अब आर-पार के मूड में दिखायी दे रहे हैं और ऐसा लगता है अब आन्दोलन कभी भी उग्र रूप ले सकता है | मदरसा शिक्षकों का कहना है कि वे माननीय योगी जी से मिलकर अपनी व्यथा कह कर बकाया वेतन तत्काल दिलाने एवं वेतन न देकर सरकार की छवि को खराब करने में लगे हुए अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग पिछले 43 दिनों से कर रहे हैं लेकिन प्रशासन माननीय मुख्यमंत्री जी से उनकी मुलाकात नहीं करा रहा है मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों ने माननीय योगी जी से मुलाकात हेतु समय भी मांगा है |
मदरसा शिक्षक एकता समिति उ०प्र० के प्रदेश प्रदेश सलाहकार इसरार अहमद इदरीसी ने बताया कि मदरसा शिक्षकों पर मुसीबतों का पहाड टूट रहा है वेतन नहीं मिलने की वजह से शिक्षक भुखमरी एवं इलाज के अभाव में एक-एक कर दम तोड़ रहे हैं लेकिन केन्द्र सरकार के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की तरफ से घोर लापरवाही बरती जा रही है शिक्षकों को पिछले छः सालों से सिर्फ आश्वासन ही मिल रहा है जबकि मदरसा शिक्षक मानसिक तनाव एवं बीमारियों से ग्रसित होकर पिछले एक माह में पांच एवं अब तक 200 से अधिक मदरसा शिक्षकों की दर्दनाक मौत हो चुकी है | इस बीच अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा अतिरिक्त राज्यांश बंद किये जाने की खबर के सदमे से पिछले बीस दिनों में पांच शिक्षकों की दर्दनाक मौत हो चुकी है शिक्षकों के हालात बद् से बद्तर हो गए हैं | उन्होंने बताया कि 2017 -18 से लेकर अब तक के समस्त बकाया वेतन का भुगतान एवं महंगाई को देखते हुये मानदेय/वेतन भुगतान प्रतिमाह किए जाने की मांग योगी सरकार से कर रहे हैं उनका कहना है कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने मदरसा शिक्षकों के सम्बन्ध हमेशा सकारात्मक निर्णय लिये हैं और अतिरिक्त राज्यांश भी शिक्षकों को राज्य सरकार द्वारा दिया जा रहा था इसलिए वह योगी जी से यह मांग करने के लिये इकट्ठा हुए हैं कि योजना के संचालन में आ रही समस्याओं के निराकरण हेतु मदरसा आधुनिकीकरण योजना का संचालन राज्य सरकार द्वारा कराया जाये |
प्रदेश अध्यक्ष अशरफ अली उर्फ सिकन्दर बाबा ने बताया कि मदरसा आधुनिकीकरण योजना भारतीय जनता पार्टी के घोषणा पत्र में भी शामिल रही है | इसी पर विश्वास कर मदरसा शिक्षकों ने मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनाने हेतु समाज के लोगों को समर्थन हेतु भरसक प्रयास भी किया था विगत यूपी विधानसभा चुनाव में पुनः योगी जी की सरकार बनवाने हेतु प्रचार प्रसार का काम किया फिर भी मदरसा शिक्षक भुखमरी का शिकार हो रहे हैं यदि भारत सरकार मदरसा शिक्षकों का बकाया वेतन जारी कर देती है तो आने वाले लोकसभा चुनावों में भी मदरसा शिक्षक एक बार फिर मोदी जी के नेतृत्व में पुनः बीजेपी की सरकार बनाने हेतु अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के बीच प्रचार प्रसार का काम करेंगे | प्रदेश महासचिव सुनील कुमार सिंह ने कहा कि मदरसा आधुनिकीकरण योजना देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रद्धेय स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेई जी की ड्रीम योजना थी जिसके माध्यम से उन्होंने अल्पसंख्यक समाज के लोगों को मुख्यधारा में लाने का सपना देखा था | प्रदेश उपाध्यक्ष रहीस अजहरी एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी अनन्त प्रताप सिंह ने बताया कि यदि शीघ्र ही हमारी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो शिक्षक आमरण अनशन, मुख्यमंत्री आवास एवं विधानसभा के सामने आत्मदाह करने पर मजबूर होंगे |
इस अवसर पर धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन देने वालों में प्रदेश अध्यक्ष अशरफ अली उर्फ सिकन्दर बाबा, प्रदेश सलाहकार इसरार अहमद इदरीसी, प्रदेश महासचिव सुनील, कुमार सिंह कृष्ण कुमार कन्नौजिया अशफाक, मौलाना अख्तर, देवता दीन, सुरेंद्र कुमार , सावित्री यादव, अजय कुमार श्रीवास्तव, अंजू सिंह, अरविंद कुमार, राम किशन, अपर्णा पांडेय, रजनीकांत, अनीता सिंह, जयनेंद्र, संतोष कुमार, जामिन, उमैर तारिक, हरि प्रकाश, गणेश प्रजापति, मुबारक अंसारी, नथुनी प्रसाद, शमशुल हसन, उदयभान यादव, गुलिस्तां, यासमीन बेगम, रामवीर मौर्य, आफताब आलम, यमुना प्रसाद वर्मा, शमीमा बेगम , अजीत कुमार, वरीशा, उसलूबे शैली, पंकज मिश्रा समेत उत्तर प्रदेश के हजारों मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक मौजूद रहे।

भवदीय
अशरफ अली उर्फ सिकंदर बाबा
प्रदेश अध्यक्ष
9838129045

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

मवई अयोध्या – श्रीराम नवमी के उपलक्ष्य में मां कामाख्या धाम परिसर में लगने वाला मेला हर्षोल्लास के साथ खुशनुमा माहौल में हुआ संपन्न

  मुदस्सिर हुसैन IBN NEWS अयोध्या 19 अप्रैल – तहसील रुदौली अंतर्गत विकास खंड मवई …