Breaking News

ब्रेकिंग झाँसी: हाईटेंसन विद्दुत तार टूटने से चपेट में आये 25 बर्षीय युवक की दर्दनाक मौत

हाईटेंसन विद्दुत तार टूटने से चपेट में आये 25 बर्षीय युवक की दर्दनाक मौत
झांसी 8 जून। विधुत विभाग की लापरवाही के चलते शुक्रवार को सुबह 7 बजे करीब लहचूरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम मड़वा में हाई वोल्टेज बिजली करंट प्रवाहित तार टूट कर गिरने से चपेट में आये 25 वर्षीय युवक किसान की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई। वहीं तार से निकली चिंगारी से एक मकान में भीषण आग लग गई। जिससे मकान में रखा सामान जलकर खाक हो गया।
जानकारी के अनुसार थाना लहचूरा के ग्राम मडंवा में आज सुबह करीब सात बजे उस समय कोहराम मच गया जब ट्रांसर्फामर के फाल्ट से सीधे ग्यारह हजार का करंट घरों में उतर आया, बल्ब आदि से लेकर विधुत चलित सभी उपकरण पटाखों की तरह चटक गये, यह देख पूरे गांव में भगदड मच गई। शुक्रवार को सुबह बिजली का कहर सबसे पहले घर के बाहर बैठे युवक किसान कैलाश पुत्र करंजू उम्र 25 वर्ष पर गिरा, उसके ऊपर मेन लाइन का तार टूट कर गिर जाने से वह पलक झपकते काल के गाल में समा गया। युवक को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मऊरानीपुर लाया गया।
जहाँ डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।मृतक किसान की शादी दो साल पहले हुई थी, व सीमांत कृषक था।ग्राम प्रधान मुकेश पटेल ने बताया कि पूर्व में तीन बार हाई वोल्टेज के कारण बिजली की चिंगारी से आग लग चुकी हैं वह स्वंय कई बार विभाग को तार बदलने के अलावा गांव में उच्च क्षमता का ट्रासंफार्मर लगाने के लिये लिखित पत्र दे चुके लेकिन विभागीय लापरवाही के कारण आज पूरे गांव में बिजली कुछ पल मौत बनकर नाची। हादसे की सूचना पुलिस व प्रशासन को दी गई। लेकिन मौके पर सुबह दस बजे तक कोई जिम्मेदार नही आया तब गांव के ही काम चलाऊ बिजली फिटर मिस्त्रियों से मेन लाइन का तार कटवाकर बिजली बंद कराई।घर में काम कर रही श्रीमति पूजा के परिजन काम से गये थे वह अकेली थी तभी बिजली से निकली चिंगारियों ने मकान को शोलों में तब्दील कर दिया गांव निवासियों को जहां जैसा पानी मिला, आग बुझाते हुये पूजा को सकुशल बाहर निकाला लेकिन गृहस्थी का लाखों रुपये का सामान जलकर खाक हो गया। चल रहे विधुत उपकरण चंद सेकेंड में जलकर खाक हो गये, हर तरफ मची अफरा तफरी के बीच ग्रामीणों में प्रशासन के उदासीन रवैये को लेकर आक्रोश देखा गया।
गौरतलब है कि लगातार विद्युत विभाग की खामी का खामियाजा ग्रामीणों को उठाना पड़ रहा है। ऐसे में एक प्रश्न उठता है कि क्या मुआवजे या कर्मियों पर कार्यवाही भर से विद्युत हादसे के शिकार का जीवन बच जाएगा। तथा दोबारा हादसा नहीं होगा। विद्युत विभाग की लापरवाह शैली से हर कोई परिचित हैं। विभाग का सबसे आसान शिकार ग्रामीण ही होता है। सभी अधिकारी उसे अनपढ़ समझ दबाने का कार्य करते है। खेती किसानी से जुड़े ग्रामीण के खेतों में खंभे तो विद्युत विभाग लगा देता है। लेकिन उसकी सुरक्षा के सभी मानको का मखौल बना कर ऐसे उड़ा देता हैं, मानों किसानी कर रहे ग्रामीण कींट पतिंगा भर हों। ग्राम निवासी लालाराम, मानवेन्द्र, पुष्पेन्द्र, अरविन्द्र, चच्चू, बाबूलाल, आकाश, गोविन्ददास, राजू पटेल आदि ने कहा कि विद्युत विभाग की लापरवाही खत्म हो इसके लिए प्रशासन को उचित कदम उठाने होंगे। अन्यथा ऐसे हादसे तो रोज होते ही रहेंगे।
ग्रामीणों ने हादसे को बेहद चिंता जनक बताते हुए कहा कि ऐसे हादसों से अभी तक प्रशासन ने किसी प्रकार का सबक नहीं लिया है। तो आगे क्या लेगा। ऐसे में प्रशासन से अपेक्षा रखना भी सरासर बेमानी होगी। उन्होने लाइनमैन पर आरोप लगाते हुए कहा कि लाइनमैन जान बूझ कर फाल्ट को अनसुना कर देता हैं। कमजोर पोल आदि उसे पता होते हैं, उसके बाद भी उस पर एक्शन न लेना साफ साफ उसकी लापरवाही पर दर्शाता है।
रिपोर्ट- महेन्द्र सिंह सोलंकी।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

आयुष्मान कार्ड में जमकर हो रही धांधली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *