Breaking News

झाँसी: पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य सहित दर्जनों लोगों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज

पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य सहित दर्जनों लोगों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज

पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन
झाँसी 9 जुलाई– झांसी जनपद के प्रेमनगर थाने में कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य समेत 250 लोगों के खिलाफ संगीन धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। आरोप है कि उन्होंने 5 जून को घेराबंदी कर थाने में तोड़फोड़, लूटपाट और अभद्रता करते हुए मारपीट की है। इस मुकदमे की जानकारी होेने पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने इसे राजनीति द्वेष भावना के तहत बताया है। उनका कहना है कि उन पर और जनता पर लगाये गये आरोप गलत है, जिसकी गवाही थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे हैं। वह मांग करते हैं कि इसकी सीबीआई जांच की जाये।
बता दें कि विगत 5 जून को झांसी के प्रेमनगर थाना क्षेत्र में सुनील साहू नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थी। मृतक के परिजन शव को थाने के बाहर रखकर प्रर्दशन कर रहे थे। उनका आरोप था कि दरोगा बलवीर अपने दो सिपाहियों के साथ उसके घर पहुंचे थे। जहां उन्होंने 50 हजार रुपयों की मांग की। जिसे पूरा करने पर पुलिस ने सुनील साहू के साथ मारपीट कर 60 हजार रुपए लूटकर चले गये थे। पुलिस की पिटाई से सुनील साहू की मौत हो गई थी। मृतक के परिजनों ने उक्त पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने की मांग करते हुए प्रर्दशन किया। जिसमें कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, शहर अध्यक्ष इम्त्यिाज हुसैन व सत्ताधारी पार्टी के पूर्व शिक्षा मंत्री रविन्द्र शुक्ल और महानगर अध्यक्ष प्रदीप सरावगी मौके पर पहुंचे थे।
लगभग 4 घंटे प्रर्दशन के बाद पुलिस ने आरोपी दरोगा और पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। मामला दर्ज होने के बाद परिजनों ने शव को उठने दिया था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया था। इसके बाद दूसरे दिन प्रेमनगर थाना प्रभारी अवध नारायण पांडे ने कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य समेत करीब 250 लोगों के खिलाफ अपराध धारा 147,149,157,152,186,189,332,341,353,395 व 3 यूपी लोक सम्पति निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया। थानेदार ने आरोप है कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य समेत सभी लोगों ने थाने का घेराव करते हुए तोड़फोड़ करते हुए सरकारी कार्य में वाधा डाली। इतना हीं नहीं उन्होंने एक महिला सिपाही के साथ मारपीट करते हुए वर्दी फाडते हुए सोने पैंडल लूट लिया था।
इस पूरे मामले में पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि उन पर और जनता पर जो मुकदमा लिखा गया है। वह गलत है। सीसीटीवी दिखा लिये जाये। यदि उन्होंने किसी भी सिपाही के साथ अभद्रता और मारपीट व लूटपाट की है तो वह फांसी पर भी चढ़ने को तैयार हैं। थाने के बाहर बड़ी संख्या में लोग बैठकर शव को रखकर प्रर्दशन कर रहे थे। घटना के तीन घंटे बाद वह वहां वहां पहुंचे और भीड़ को समझाने का प्रयास किया। पीड़ितों का आरोप था कि मृतक की पुलिस उत्पीड़न से मौत हुई है। ऐसा नहीं है कि यहां वह अकेले हो। उनके अलावा भाजपा से पूर्व शिक्षा मंत्री रविन्द्र शुक्ल समेत अन्य भी मौजदू थे। सभी ने उस तनावपूर्ण स्थिति को खत्म कराने का प्रयास किया था।
सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि सइयां भए कोतवाल तो फिर डर काहे का। जिसकी लाठी उसकी भैंस। भारतीय जनता पार्टी की सरकार है वह जैसा करना चाहे वैसा कर सकती है। अंग्रेजों के शासन में देखते थे कि किस तरह जलिया वाला कांड हुआ था और किस प्रकार बेगुनाहों की आवाज को दबाया गया था। ठीक उसी प्रकार का दौर आज सामने आया है। जब गरीब अपनी आवाज उठाने जाते है तो प्रशासन उन पर संगीन और खतरनाक धाराओं में मामला दर्ज कर आवाज दबाने का प्रयास करता है। वह निर्दोशों के साथ कानूनी लड़ाई लड़ेगें। वह उच्चाधिकारियों से आस रखते है कि वह इसकी सीबीआई जांच करायेंगे।
 
रिपोर्ट महेंद्र सिंह सोलंकी ibn24x7news झाँसी

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

पत्रकार को मिली धमकी दोबारा खबर लिखे तो गोली मार दिया जाएगा

  ब्यूरो चीफ मुकेश मिश्र अम्बेडकरनगर – हुक्का बार की खबर छापने पर दबंग/हैकड़/ गुंडे …

Leave a Reply

Your email address will not be published.