Breaking News

मॉक ड्रिल कर एनडीआरएफ ने जीता लोगों का भरोसा

 

रिपोर्ट मो० अनस

गोरखपुर। जिला आपदा प्रबंध प्राधिकरण व एनडीआरफ के द्वारा मेगा मॉक ड्रिल कर लोगों को संदेश दिया गया कि किसी भी प्रकार की आपदा आने पर एनडीआरएफ के साथ साथ और भी जितनी एजेंसी है जैसे एसडीआरएफ, पीएसी, NCC, एवं आपदा मित्रों की टीम लोगों के बचाव के लिए तैयार है। किसी भी आपदा या दुर्घटना में प्रतिक्रिया और कुशल प्रबंधन के लिए विश्वव्यापी इंसीडेंट रिस्पांस सिस्टम अर्थात आईआरएस को भारत सरकार द्वारा मान्यता प्रदान की गई है।
इस प्रणाली के तहत जिले के तमाम एजेंसियों जैसे जिला प्रशासन एनडीआरएफ एसडीआरएफ पुलिस होमगार्ड नगर निगम जिला चिकित्सालय पीडब्ल्यूडी सिंचाई विभाग अग्निशमन विभाग सिविल डिफेंस पीएससी व अन्य एजेंसियों ने आपसी सामंजस्य के साथ राहत खोज और बचाव कार्य किया। इसी क्रम में गोरखपुर में 1 मेगा मॉक एक्सरसाइज किया गया। इस मॉक एक्साइज के दौरान एनडीआरएफ को जिला प्रशासन द्वारा सूचना दी गई कि अत्यधिक वर्षा हो जाने के कारण रामगढ़ ताल एवं अगल बगल के कस्बो में पानी उफान पर हो गयी जिससे आवागमन की सुविधा ठप हो गई है और उन्हें तत्काल राहत और बचाव कार्य की जरूरत है। एनडीआरएफ के कमांडेंट श्री मनोज कुमार शर्मा के निर्देशानुसार व डिप्टी कमांडेंट श्री पी. एल. शर्मा के देख रेख में
एनडीआरएफ के टीम कमांडर इंस्पेक्टर गोपी गुप्ता अपने बचावकर्मियों मोटर बोट लाइफ जैकेट डीप डाइविंग सेट व अन्य जरूरी उपकरणों के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लिए रवाना हो गए। एनडीआरएफ की त्वरित कार्यवाही के लिए पुलिस ने एक ग्रीन कोरिडोर बनाया जिससे टीम जल्द ही स्टेजिंग एरिया में पहुंच गई। इस स्थिति मे एनडीआरएफ के जवानों ने दिन-रात अपने अथक परिश्रम से लोगों को भीषण बाढ़ से बाहर निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। वहीं दूसरी ओर सूचना मिलती है कि अचानक यात्रियों से भरी एक नाव नदी में पलट गई और उसमें बैठे लोग नदी के तेज बहाव में डूबने लगे और मदद की गुहार लगाने लगे। यह देख कर स्थानीय लोग भयभीत हो गए लेकिन तभी अचानक एनडीआरएफ के बचाव कर्मी अपनी मोटर नाव पर सवार होकर डूबते लोगों की सहायता करने पहुंचे। तुरंत कार्रवाई करते हुए एनडीआरएफ के बचाव कर्मियों ने सभी लोगों को विभिन्न तरह की तकनीक जैसे हेट टो, चिंंटो मेथड से बाहर निकाला और मेडिकल कैंप में पीएचटी देकर उन्हें स्थानीय अस्पताल के लिए रवाना किया गया।

इस एक्सरसाइज के माध्यम से जिला प्रशासन और विभिन्न रेस्क्यू एजेंसियों में आपसी तालमेल को बनाने में सहायता मिलेगी और प्रदेश में आने वाली बाढ़ में बेहतर प्रबंधन किया जा सकेगा। इस मॉक एक्सरसाइज में “आपदा मित्रों” ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। गोरखपुर जिले के आपदा मित्र बहुत ही एक्टिव हैं, जो कि एनडीआरएफ द्वारा 14 दिनों की ट्रेनिंग प्राप्त कर चुके हैं। साथ ही साथ पिछले समय समय पर एनडीआरएफ टीम के द्वारा उन्हें बचाओ तकनीकों के बारे में प्रशिक्षण दिया जाता रहा हैं। कार्यक्रम में adg गोरखपुर रेंज अखिल कुमार, जिलाधिकारी गोरखपुर
कृष्णा करुणेश, एसएसपी गुलशन ग्रोवर मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट पीएल शर्मा ने बताया कि बाढ़ या किसी अन्य आपदा आने पर आपदा प्रबंधन टीम हर वक्त आम जनमानस की मदद के लिए तैयार है। उन्होंने बताया कि इस मॉक ड्रिल का मकसद गोरखपुर की जनता के बीच सुरक्षा की भावना जागृत करना हैं। इस दौरान कार्यक्रम स्थल पर ज्वाइंट सेक्रेट्री , जिला आपदा सलाहकार गौतम गुप्ता, निरीक्षक गोपी गुप्ता रहे।एडीएम वित्त राजेश कुमार सिंह के देख रेख में पुरे कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

About IBN NEWS GORAKHPUR

Check Also

लखनऊ शहर के 75 चौराहों एवं तिराहों पर कराई जा रही है भव्य प्रकाश व्यवस्था एवं सजावट

सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग-उ0प्र0 Ibn news ब्यूरो रिपोर्ट सुभाष चंद्र यादव लखनऊः 11 अगस्त, 2022 …