Breaking News

पश्चिमी चम्पारण – बेतिया बारिस नही होने से सुखाड़ के चलते पश्चिम चंपारण जिला के किसान त्रस्त

Ibn24x7news रिपोर्ट विजय कुमार शर्मा प,च,बिहार
बिगत तीन चार महीनों से पडने वाली भीषण गर्मी एवं पानी का नहीं बरसना इस जिले के किसानों पर आफत आ गई है उनके पूरा खेत सुखाड़ हो जाने के कारण पूरा फटा नजर आ रहा है किसान अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहे हैं इनका पुरसानेहाल कोइ नहीं है न विभागीय पदाधिकारी और ना सरकार ही इनकी मदद करने को तैयार है समय पर बरसात नहीं होने के कारण और भीषण गर्मी के वजह कर खेतों में बुवाई का काम भी अवरुद्ध हो गया है। किसानों के मिलने वाली सहायता राशि डीजल सब्सिडी फसल बीमा योजना खाद सब्सिडी एवं न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बढ़ोतरी का भी कोई फायदा नहीं है इनकी लागत का पूरे तौर पर भर पाया नहीं हो पा रहा है। इस वर्ष सुखाड़ की स्थिति इतनी दयनीय है कि इसकी आद्रता 50 से 76 % तक पहुंच गई है मगर सरकार की ओर से इस पर अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया गया है और ना ही किसानों को सुखाड़ की सहायता राशि की घोषणा की जा रही है। अगर बिहार सरकार बिहार को सूखाग्रस्त क्षेत्र घोषित करती है तो संभव है कि सभी किसानों को इससे राहत मिलेगी। बिहार सरकार ने यह कहा है कि अगर 1 सप्ताह के अंदर वर्षा नहीं हो पाती है तथा किसानों के खेतों में पानी की उपलब्धता कम रहेगी तो बिहार को सूखाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर दिया जाएगा इससे किसानों को मिलने वाले क्षति की राशि से लाभान्वित होंगे। किसानों को खाद बीज डीजल की आपूर्ति में कई तरह की सुविधाएं देने का सरकार की ओर से घोषणा की जाने वाली है जिससे किसान लाभान्वित होंगे बिहार सरकार ने इस आपदा की घड़ी में प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए 2643 करोड की मनंजुरी दी है, इसमें किसानों को सुखाड़ से होनेवाली क्षति को भी अंकित किया है। सुखाड़ की स्थिति अगर ऐसी ही रही तो किसानों पर तो आफत पड़ेगा ही साथ ही आम लोगों को भी फसल नहीं उगने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ेगा और महंगाई चरम सीमा पर पहुंच जाएगी इसके साथ दाने दाने को लोग मोहताज हो जाएंगे।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

पत्रकार सुभाष कुमार के हत्यारे की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग को लेकर निकाली गयी कैन्डल मार्च

मंसूरचक, बेगूसराय, बिहार पुलिस प्रशासन हत्यारे को शीघ्र गिरफ्तार करें। इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन  ने फूंका …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *