Breaking News

बीगोद मांडलगढ़ बिजोलियां को शाहपुरा में मिलाना अनुचित

दिनेश संचेती ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र


बीगोद– राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा चुनाव से पूर्व राजस्थान में बड़ी संख्या में नए जिले बनाने का ऐलान किया है उसी के तहत भीलवाड़ा जिले के अंतर्गत शाहपुरा को भी नया जिला बनाने की घोषणा की है, जिसमें बीगोद मांडलगढ़ बिजोलियां क्षेत्र को भी शामिल करने का प्रस्ताव आम चर्चा में है ।

इस संदर्भ में क्षेत्र के प्रख्यात लेखक विचारक समाजरत्न दिनेश संचेती ‘ दिनकर ‘ ने राजस्थान के मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखकर इन क्षेत्रों को शाहपुरा में शामिल करने को पूर्णतः अनुचित बताया है।
जीवन भर राजनीतिक शतरंज में सक्रिय निर्णायक भूमिका का निर्वहन करने वाले श्री संचेती ने पत्र में स्पष्ट किया कि भौगोलिक राजनीतिक व ऐतिहासिक दृष्टि से भी देखें तो इन क्षेत्रों को शाहपुरा में मिलाना कत्तई उचित नहीं है ।

उन्होंने कहा कि राजनीति शिथिलता की वजह से फिलहाल इन क्षेत्रों से विरोध के स्वर प्रखरता तक नहीं पहुंचे हैं किंतु जैसा माहौल बन रहा है, उसे देखते हुए तत्काल ही निर्णय बदलकर इन क्षेत्रों को भीलवाड़ा जिले में ही रख दिया जाये, जिससे विरोध पर यहीं विराम लग सके।

संचेती ने अपने सुझाव में यह भी लिखा कि बीगोद, मांडलगढ़, बिजोलियां की राजनीतिक पृष्ठभूमि आपके साथ-साथ समस्त बड़े राजनीतिज्ञों से छिपी हुई नहीं है , अतः छोटे विरोध को भी हल्के से नहीं लिया जाना चाहिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि मेरी व्यक्तिगत राय में भी तुरंत दखल कर इन क्षेत्रों को भीलवाड़ा से नहीं हटाया जाना चाहिए।

पत्र के अंत में श्री संचेती ने यह भी संदेह व्यक्त किया कि हो सकता है अधिकारियों के स्तर पर ही ऐसा निर्णय हुआ हो। उन्होंने मुख्यमंत्री जी को कहा कि आप व्यक्तिशः निर्णय का अवलोकन करें एवं इसमें सुधार करके उक्त वर्णित क्षेत्रों की स्थिति को पूर्ववत रखें । यह आवश्यक व अपेक्षित है।

हालांकि अभी तक परीसीमन व नोटिफिकेशन भी जारी नहीं हुआ है, अतः ऐसा होने से पूर्व ही सुधार कर लेना उचित व न्याय संगत होगा।
(फोटो कैप्शन– समाज सेवी दिनेश संचेती)
फोटो-प्रमोद कुमार गर्ग

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

कालोनी वासीयो ने नल कनैक्शन कराने मांग अधिकारीयो से की

  बीगोद– कस्बे के भीलवाड़ा – बीगोद रोड ईच्छा मणी होटल के पास कालोनी मे …