Breaking News

डॉ.भीमराव अंबेडकर एजुकेशन सोसायटी ने 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाया

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट

फरीदाबाद:डॉ.भीमराव अंबेडकर एजुकेशन सोसायटी फरीदाबाद के द्वारा एनएच नं-3 स्थित बौद्ध विहार समुदायिक भवन में आजादी का अमृत महोत्सव और 76 वां स्वतंत्रता दिवस बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय लोक निर्माण विभाग से सेवानिवृत्त डायरेक्टर जनरल केसी सिंह थे और अध्यक्षता संस्था की मुख्य संयोजिका ओर नगर निगम फरीदाबाद से प्रशासनिक अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त अधिकारी निर्मला धामा ने की। संस्था के अध्यक्ष ओपी धामा,डॉ.भीमराव आंबेडकर महासंघ फरीदाबाद के अध्यक्ष और आबकारी करअधिकारी के पद से सेवानिवृत्त विश्वनाथ सिंह तथा वरिष्ठ समाजसेवी एवं आबकारी कर विभाग से सेवानिवृत्त निरीक्षक राजेंद्र प्रसाद विशेष अतिथि के तोर पर उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचालन सिलाई केंद्र की प्रशिक्षिका सुजाता ने किया।

सिलाई केंद्र की छात्राओं शीवानी,रिया,रुक्सार,शालू, आंचल,मुस्कान,प्रीति,खुशबू, तन्नू,रितिका ने स्वागत गीत,बंदेमातरम,देशभक्त हरियाणीवीं,हरियाणा की प्रगति इत्यादि पर भावभीने गीत गा कर दर्शकों का मनमोह लिया ओर आजादी के मतवालों को याद किया।एक छोटे बच्चे जय ने हम होंगे हिंदुस्तानी देशभगति का गीत गा कर सभी को मंत्र कर दिया।बच्चों को संबोधित करते हुए के,सी सिंह ने कहा कि 75 वर्ष पहले जो आजादी हमे प्राप्त हुई है,उसमे अनेको शहीदों ने अपने खून की कुर्बानी दी है। अनेकों नोजवान अपने प्राणों की आहुति देकर कर मात्रभूमि के लिए वीरगति को प्राप्त हुए।इसलिये हमे इस आजादी को हर हाल में संम्भाल कर रखना है।

उन्होंने कहा कि डॉ भीमराव आंबेडकर जी ने संविधान में महिलाओं को भी वोट ओर शिक्षा का अधिकार देकर सम्मानित जीवन जीने का अवसर दिया है।उन्होंने कहा कि डॉ.भीभराव अम्बेडकर एजुकेशन सोसाइटी फरीदाबाद ओपी धामा और निर्मल धामा के नेतृत्व में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने लिए जो प्रशिक्षण दे रहे हैं वह अत्यन्त सरहानीय है।इसलिये वह इस संस्था को तन मन धन से सहयोग करने के लिए हमेशा प्रयासरत रहेंगे। विश्वनाथ सिंह ने कहा कि महिलाओं को शिक्षा और रोजगारपरक प्रशिक्षण देना एक उत्तम कार्य है। इसलिये ओ पी धामा जी ओर उनका पूरा परिवार बधाई के पात्र हैं और उनका सहयोग हमेशा उनके साथ रहेगा।

राजेंद्रप्रसाद ने कहा कि डॉ.भीमराव आंबेडकर एजुकेशन सोसायटी फरीदाबाद , बाबा साहेब अंबेडकर के बताए रास्ते पर चलते हुए जो कार्य कर रही है वह अत्यंत सराहनीय है।महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना देश के विकास के लिए अत्यंत आवश्यक है। निर्मल धामा ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में कहा कि उनका जन्म 66 वर्ष पूर्व हरियाणा के एक पिछड़े गांव में हुआ और शादी भी एक छोटे से गांव में हुई। उनका 10वीं की परीक्षा का परिणाम भी शादी के बाद आया था। उनकी आगे पढ़ने की बहुत इच्छा थी जिसे उनके पति ओ पी धामा ने पूरी की लेकिन इसके लिए उन्हें भी बहुत संघर्ष करना पड़ा था।

रोजाना सुबह 5 किलो आटा हाथ की चक्की से पीसकर,2 घड़े पानी के एक किलोमीटर से लाकर ,5 किलोमीटर गांव से दूर पढ़ने जाना और स्कूल से वापिस आकर पशुओं के लिए चारा काटना,शाम का खाना बनाना और रात को देर तक पढ़ना और अगले दिन फिर सुबह 3 बजे उठ जाना दैनिक जीवन था लेकिन हार नही मानी और समाज शास्त्र में एम ए पास किया और नगरनिगम फरीदाबाद के कई विभागों में सफलतापूर्वक कार्य करते हुए प्रशासनिक अधिकारी के पद से वर्ष 2014 में सेवानीवर्ती के बाद आज पूरा जीवन वंचित समाज की महिलाओं और कन्यायों को रोजगारपरक प्रशिक्षण देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनानें के लिए अपने पति के साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर पर्यारत हूं।

ओपी धामा ने कहा कि वंचित समाज को शिक्षित करना उनका एक स्वपन था और यह उनका जनून भी है।शिक्षा से ही किसी समाज का उत्थान हो सकता है और देश प्रगति कर सकता था। बाबा साहेब डॉ.आंबेडकर ओर स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ने वाले सभी महापुरुषों का भी यही सपना था।उन्होंने कहा कि देश मे सामाजिक समरसता ओर समानता लाने के लिए बिना किसी भेदभाव के सभी के लिए समान शिक्षा होना अत्यंत आवश्यक है,तभी देश आगे बढ़ सकता है। उन्होंने कार्यक्रम में आये सभी मेहमानों का स्वागत करते हुए सभी का सहयोग के लिए धन्यवाद किया।ओ पी धामा ने सिंगर इंडिया लिमिटेड ओर रोटरी इंटरनेशनल बल्ब फरीदाबाद अर्थ का भी विशेष धन्यवाद किया जिनके सहयोग से सिलाई केंद्र चल रहा है।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

पसीना सूखने के पहले मजदूरो की मजदूरी मिल जाय यह सुनिश्चित करे अधिकारी:आर्यका अखौरी

टीम आईबीएन न्यूज गाजीपुर : जिलाधिकारी आर्यका अखौरी की अध्यक्षता में विभिन्न विभागो के अन्तर्गत …