Breaking News

चुनार (मीरजापुर)=तहसील न्यायालय चलने में रोडा़ बन रहा है यंग बार चुनार

ब्यूरो रिपोर्ट विकाश चन्द्र अग्रहरी IBN NEWS मिर्ज़ापुर


औंधे मुह गिर पड़ी है न्याय व्यवस्था, मनमानी हो चुके है कर्मी
चुनार (मीरजापुर)स्थानीय तहसील पर स्तर पर चलनेवाली न्याय व प्रशासनिक व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गयी है।तहसील परिसर के यंग बार एसोसिएशन आये दिन बिना कारण रोडा़ बनती है। इसमें एक मानसिक दासता का परिचय देते हुए गैर जिमेदाराना ब्यवहार करतें हुए आये दिन कथित प्रस्ताव पत्र देते हैं जिससे अधिसंख्य लोग अनभिज्ञ होते है। विगत लगभग तीन वर्षों से तहसील स्तर की न्यायालयीय व प्रशासनिक व्यवस्था चरमरा सी गयी है। संबंधित वादकारियों व पूर्ण रूप से विधि व्यवसाय करने वाले अधिवक्ताओं को भारी परेशानी हो रही है। तहसील में कार्य करनेवाले अस्थायी कर्मी गैर जिम्मेदारी से कार्य कर रहे है। स्थाई कर्मी समय पर अपनी सीट से नदारद रहते है और यदि कोई कागजात दी जाती है उसको संबंधित जगह या फाईल में रखने में कई महिनों लग जाते हैं। वही पूर्व समय में यहाँ तहसील में 6 नायब तहसीलदार कार्यरत रहे पर आज एक ही नायब तहसीलदार कार्यरत है व भी कार्यालयीय कार्यवस बाहर रहतें हैं। जिसमें सैकड़ों वाद वर्षों से लंबित है दुर दराज से आनेवाले वादकारी ब्यवस्था को कोसते व भला बुरा कहते वापस लौट जाते है। कमोवेश यही हालात तहसीलदार व उप जिलाधिकारी के कार्यालय व न्यायालय का है। जिससे क्षेत्र के हजारों लोगों का भारी नुकसान जानबूझकर तहसील कर्मियों द्वारा किया जा रहा है और राजस्व की भारी क्षति हो रही है। इस सबका दारोमदार प्रमुख रूप से यंग बार एसोसिएशन चुनार को जाता है। जब तहसील के अधिकारियों से वार्ता होती है तो वह यंग बार को जिम्मेदार ठहराते है और जब यंग बार से पुछा जाता है तो वह उप जिलाधिकारी व तहसीलदार को जिम्मेदार ठहराते है। इस नुराकुश्ती में व्यवस्था का भारी दुरप्रयोग हो रहा है और राजस्व की क्षति हो रही ही क्षेत्र वासियों मे गहरा आक्रोश है। बार के पदाधिकारीगण दिन में प्रस्ताव देकर न्यायालय बंद करवाते है व शाम ढलते ही गलबहियां करतें है। तथाकथित प्रस्ताव में क्या लिखा होता है यह पता नही चल पाता है पर एक झटके मे न्यायालय बंद कर दिया जाता है। इसमें शासन या उच्च न्यायालय के किस नियमावली का पालन किया जाता है। यह खेद का विषय बना हुआ है। जैसे ही कोई प्रस्ताव नामका कागज आता है तो लगता है पलक पावडे़ बिछाये तुरत सरणागत हो न्यायालय कार्य बंद करा देते है। आश्चर्य का विषय यह है कि चुनार तहसील कि विगड़ती दशा व व्यवस्था कि स्थिति प्रदेश मे सबसे निम्नस्तरीय है।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

मवई अयोध्या – फेसबुक पर अश्लील भाषा का प्रयोग करने पर मुकदमा दर्ज

मुदस्सिर हुसैन IBN NEWS पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार कर भेजा जेल अयोध्या बाबा …