Breaking News

अयोध्या – राम जन्मभूमि तक पहली बार दौड़ेगी इलेक्ट्रिक वाहन

अयोध्या ब्यूरो कामता शर्मा

अयोध्या

अयोध्या में रामलला के दर्शन करने के लिए पहुंच रहे बृद्ध और दिव्यांगों के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट सुविधा अंकुल बनाए जाने की योजना तैयार की है।
राम जन्मभूमि का मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है। इसको देखने के लिए बड़ी संख्या में दूर-दराज से श्रद्धालु अयोध्या पहुंच रहे हैं। बच्चे, बूढ़े ,दिव्यांग सभी प्रभु के दर्शन के अभिलाषा में अयोध्या पहुंच रहे हैं।राम जन्मभूमि पर मिलने वाली सुविधा के अनुसार हर व्यक्ति रामलला का दर्शन कर रहा है। लेकिन आने वाले समय में भगवान श्री रामलला अपने 21 फुट ऊंचे मंदिर के मूल गर्भगृह में विराजमान हो जाएंगे। तो बुजुर्ग व दिव्यांगों को रमलला का दर्शन करने में किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो इसकी भी तैयारी शुरू कर दी है। सुग्रीव किला से राम जन्मभूमि तक बनाए जा रहे पर सीधे संपर्क मार्ग से राम मंदिर तक इलेक्ट्रिक रिक्शा चलाया जाएगा। इसके लिए इस पर तीन प्रकार के पथ का निर्माण कराया जा रहा है। जिसमें एक मार्ग को इलेक्ट्रिक वाहन के लिए रखा जाएगा।श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व में निर्माण समिति की बैठक और स्थानीय प्रशासन को हमें जो सुझाव देनी थी। वह हम दे चुके हैं। हमारा सुझाव इतना था कि राम जन्मभूमि आने वाले यात्रियों को कम से कम चलना पड़े। इसके लिए पार्किंग भी निकट हो और अधिक से अधिक सीधा रास्ता हो और जिधर जाए उधर से ही लौट कर आ जाए। जिसका सामान जहां रखा है उसे वापस प्राप्त होने में भी सुविधा होगी।इतनी बात जरूर आई कि चाहे शासन करें या ट्रस्ट करें। लेकिन आने वाले दर्शनार्थियों के लिए जन्मभूमि मार्ग पर एक इलेक्ट्रिक रिक्शा का प्रॉविजन जरूर करना पड़ेगा हम वह करेंगे। वही कहा कि दिव्यांग और बुजुर्गों के लिए सीढ़ियों के रास्ते पर कुर्सी लिफ्ट को भी लगाए जाने की योजना बनाई गई है। जिससे वह मंदिर की ऊंचाइयों तक आसानी से पहुंच सकें।

About IBN NEWS

Check Also

मवई अयोध्या – फैजाबाद सीट पर एससी मतदाताओं की भूमिका निर्णायक

चुनावी दंगल   मुदस्सिर हुसैन IBN NEWS उड़न खटोलो को देखते देखते मतदाता भी गए …