Breaking News

प्रॉपर्टी हत्याकांड में दो अभियुक्तों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

दो अभियुक्त इंस्पेक्टर जे एन सिंह उप निरीक्षक अक्षय मिश्रा पहले जा चुके हैं जेल

 

रिपोर्ट ब्यूरो

गोरखपुर।कानपुर के प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता की गोरखपुर में होटल में मौत के मामले में दो और आरोपियों दरोगा राहुल दुबे और कांस्टेबल प्रशांत को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस मामले के दो मुख्य हत्यारोपित इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को बीते रविवार को ही पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। दोनों इस वक्त मंडलीय कारागार में कैद हैं। 6 आरोपितों में अधिकांश के घरों और रिश्तेदारों के ठिकानों पर पुलिस की 16 टीमें लगातार दबिश दे रही हैं।

इस मामले में दर्ज केस में एसआईटी ने साक्ष्य मिटाने और किसी वारदात को एक साथ मिलकर अंजाम देने का केस भी दर्ज किया है। जबकि अब तक की जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर एसआईटी इस मामले में हत्या के केस में चार्जशीट लगा सकती है।

फिलहाल एसआईटी ने आरोपितों की रिमांड के लिए अब तक कोर्ट में कोई आवेदन नहीं दिया है। एसआईटी अधिकारी सभी आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही उनकी रिमांड लेंगे। दरअसल, इस मामले में रामगढ़ताल थाने पर तैनात कुल 6 पुलिस वालों को आरो​पी बनाया गया है। जबकि कहा यह भी जा रहा है कि SIT इस मामले में कुछ और लोगों को भी 120 बी के तहत आरोपी बना सकती है।मृतक की पत्नी मीनाक्षी ने पुलिस को दी तहरीर में 6 पुलिसकर्मियों को हत्या का दोषी ठहराते हुए नामजद किया था।

 

इनमें इंस्पेक्टर रामगढ़ताल जेएन सिंह, चौकी इंचार्ज फलमंडी अक्षय मिश्रा, सब इंस्पेक्टर विजय यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, जबकि तहरीर में नामजद किए गए सब इंस्पेक्टर राहुल दुबे, हेड कांस्टेबल कमलेश यादव, कांस्टेबल प्रशांत कुमार की जगह 3 अज्ञात ​पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज हुआ। गिरफ्तार करने वालों में प्रमुख रूप से इंस्पेक्टर कैंट सुधीर कुमार सिंह इंस्पेक्टर रामगढ़ ताल सुशील कुमार शुक्ला चौकी प्रभारी फल मंडी शेष कुमार शर्मा।

About IBN NEWS MAHARAJGANJ

Check Also

यूपी में यूपी में 10 जिला अधिकारियों के तबादले

  नीतीश कुमार अयोध्या के नए जिलाधिकारी। नियुक्ति संजय सिंह जिला अधिकारी फर्रुखाबाद बने। मानवेंद्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *