Breaking News

सीएम योगी ने 28 अगस्त को संभावित राष्ट्रपति के कार्यक्रम का जायजा लिया।

रिपोर्ट ब्यूरो

गोरखपुर। प्रदेश का इकलौता आयुष विश्वविद्यालय के संभावित  राष्ट्रपति द्वारा भूमि पूजन को लेकर प्रदेश सरकार सभी तैयारियां पूर्ण करने में लगी हुई है प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कार्यक्रम स्थल पहुंचकर तैयारियों का जायजा लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया।  सीएम योगी ने 28 अगस्त को संभावित राष्ट्रपति के कार्यक्रम के जायजा लिया और अधिकारियों को इससे संबंधित जरूरी दिशा निर्देश दिए।अपने दो दिनों के दौरे पर गोरखपुर आए सीएम योगी गुरुवार की सुबह जनता दरबार के तत्काल बाद गोरखनाथ मंदिर से निकलकर भटहट के पिपरी पहुंचे। यहां उन्होंने प्रस्तावित आयुष विश्वविद्यालय की जमीन का निरीक्षण किया। सुबह 10.20 बजे सीएम का हेलीकॉप्टर से भटहट पटेल स्मारक इंटर कालेज के खेल मैदान में लैंड किया। यहां से सीएम तीन किमी दूर फ्लीट से आयुष विश्वविद्यालय कार्यक्रम स्थल पहुंचे। जहां उन्होंने प्रस्तावित आयुष विश्वविद्यालय की जमीन पर 28 अगस्त को संभावित राष्ट्रपति के कार्यक्रम के जायजा लिया और अधिकारियों को इससे संबंधित जरूरी दिशा निर्देश दिए करीब 15 मिनट के निरीक्षण के बाद सुबह 10.35 बजे कार्यक्रम स्थल से सीएम योगी की फ्लीट हेलीपैड की तरफ वापस हुई। 10.45 बजे वे हेलीकॉप्टर अयोध्या के लिए रवाना हो गए। निरीक्षण के दौरान डीएम विजय किरण आनंद, तहसीलदार सदर संजीव दीक्षित सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। यहां संभावना जताई जा रही है कि 28 अगस्त को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के हाथों आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास हो सकता है।राष्ट्रपति के आगमन से पहले यहां बनने वाले 5 हैलीपैड की तैयारियों का सीएम ने जायजा लिया। इनमें से तीन हेलीपैडों पर राष्ट्रपति के साथ आने वाले सेना के 3 हेलीकॉप्टर लैंड करेंगे। जबकि एक पर सीएम योगी और एक अन्य पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का हेलीकॉप्टर उतेगा। हालांकि संभावना यह भी जताई जा रही है कि सीएम योगी और राज्यपाल एक साथ एक ही हेलीकॉप्टर से आ सकते हैं। उन्होंने राष्ट्रपति के आगमन की तैयारियों का जायजा लेने के साथ ही अधिकारियों को जरूरी​ दिशा निर्देश दिए।

About IBN NEWS MAHARAJGANJ

Check Also

‘‘सभी का सभी से प्रेम-एकात्म मानवदर्शन‘‘: प्रो. उपेन्द्र नाथ त्रिपाठी क़

रिपोर्ट योगेश श्रीवास्तव गोरखपुर। दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ, पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की जयन्ती 25 सितम्बर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *