Breaking News

अदलहाट,मिर्जापुर – अदलहाट में जुटे विश्व भर के शिक्षाविद्, दिया ज्ञान विज्ञानं का सन्देश


22 सितम्बर 2018
सुजीत कुमार (संवाददाता)
शीर्षक : भारतीय उच्च शिक्षा वर्तमान परिदृश्य में : मुद्दे एवं चुनौतियां
अदलहाट मिर्ज़ापुर । लालता सिंह राजकीय महिला पी. जी. कॉलेज , मिर्ज़ापुर में आज दो दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार का शुभारंभ हुआ। उदघाटन सत्र को संबोधित करते हुए श्रीलंका से आये शिक्षाविद डॉ सुमेधा थेरो ने कहा कि भारत की उच्च शिक्षा अत्यंत प्राचीन है। दुनिया मे सबसे प्राचीन विश्विद्यालय और विश्व शिक्षक भारत मे पैदा हुए। महात्मा बुद्ध ने 2500 वर्ष पूर्व अन्तर्राष्ट्रीय शिक्षक की भूमिका निभाई थी। उनके विचार आज भी अन्तर्राष्ट्रीय मानक पर समीचीन है । भारतीय उच्च शिक्षा आज पश्चमी देशो के विश्वविद्यालयो की चुनौतियों से रूबरू हैं । अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार विश्व ज्ञान को प्रचारित करने के अवसर उपलब्ध कराते हैं।
विशिष्ठ अतिथि प्रो. ऐ. के. दीपायन ने स्थानीय भाषा में शोध और तकनीकी विकास पर बल दिया । उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में उच्च स्थान रखने वाले सभी देश अंग्रेजी का प्रयोग नही करते इसलिए हमें भी अपनी भाषा का प्रयोग समुचित अधिकार और सम्मान से करना चाहिए ।
प्रो. इंद्रा विश्नोई ने अपने विशिष्ठ उद्बोधन में कहा कि उच्च शिक्षा का परिदृश्य अब अधिक चुनौतीपूर्ण है। अधिक नामांकन की सरकारी कोशिशो ने गुणवक्ता को प्रभावित किया है । अधिगम और शिक्षण के स्तर पर अनेक चुनौतिया उत्पन्न हो गयी है जिनका शीघ्र समाधान अपेक्षित हैं। विशिष्ठ अतीत के रूप में पधारी पुलिस अधीक्षक मिर्ज़ापुर श्रीमती शालिनी सिंह ने अपने छात्र एवं शिक्षक जीवन का उदाहरण देते हुए शिक्षा के महत्व एवं प्रविधि पर प्रकाश डाला । प्रो. एच. एन. प्रसाद ने भी अपनी गरिमामय उपस्थिति से कार्यक्रम को अनुग्रहित किया ।
कार्यक्रम की अद्यक्षता महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पूर्व कुलपति प्रो. पृथ्वीश नाग ने की । अपने उद्बोधन में प्रो नाग ने महिला शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला।
सेमिनार की प्रस्तावना आयोजन सचिव डॉ राजकुमार सिंह ने प्रभावी रूप से प्रस्तुत की । इससे पहले अतिथियों का स्वागत प्राचार्य डॉ टी. डी. सिंह एवं कार्यक्रम संयोजिका डॉ अंजू सोनकर ने किया ।
काव प्रकाशन की डॉ कीर्ति अग्रवाल और रिसर्च फाउंडेशन ऑफ इंडिया के डॉ सौरभ जैन ने अपने संगठन के कार्यों एवं योजनाओं का परिचय दिया ।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में दीप प्रज्जवलन मुख्य अतिथि द्वारा किया गया । छात्राओं ने स्वागत गीत एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया । इस अवसर पर क्षेत्र के महाविद्यालय प्रबंधक, राजकीय महाविद्यालय के पूर्व एवं वर्तमान प्राचार्य के साथ स्थानीय पत्रकार बंधुओ को भी सम्मानित किया गया ।
विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले प्राध्यापको एवं शोधार्थियों को सह आयोजक संगठन काव प्रकाशन एवं रिसर्च फाउंडेशन ऑफ इंडिया के ओर से प्रमाण पत्र दे कर सम्मानित किया गया ।
समारोह का संचालन डॉ गीता रानी शर्मा ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ नीलम टंडन द्वारा किया गया ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. पृथ्वीश नाग , पूर्व कुलपति, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी ।
मुख्य अतिथि डॉ कहवटे सिरी सुमेधा थेरो, फाउंडर प्रेजिडेंट, इंडो श्रीलंका इंटरनेशनल बुद्धिस्ट एसोसिएशन, श्रीलंका ।
विशिष्ठ अतिथि प्रो इंदिरा विश्नोई , गृह विज्ञान विभाग , काशी हिन्दू विश्विद्यालय , वाराणसी ।
संरक्षक
डॉ टी. डी. सिंह, प्राचार्य
संयोजक : डॉ अंजू सोनकर
संयोजक सचिव : डॉ राजकुमार सिंह
संचालन : डॉ गीता रानी शर्मा

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

महरुआ पुलिस की नाकामी के कारण सरेआम घूम रहे हत्या के आरोपी

  कोर्ट के आदेश के बावजूद भी पुलिस नहीं कर पा रही गिरफ्तार सीजेएम ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published.