Breaking News

Exxclusive: बंदूक के साथ फोटो खिचवाते समय दब गया ट्रिगर, महिला की मौत

 

ब्यूरो रिपोर्ट

हरदोई।कई बार खास फोटो खिंचवाने की चाहत जानलेवा हादसा बन जाती हैं।उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में ऐसा ही हादसा हो गया जहां फोटो खिंचवाते समय एक महिला की बंदूक की गोली लगने से संदिग्ध हालत मौत हो गई है। महिला के ससुराल वालों का कहना है कि फोटो लेते समय लापरवाही से बंदूक का ट्रिगर दब गया और उसकी मौत हो गई।विवाहिता के परिजनों का आरोप है कि दहेज के लिए उनकी बेटी की हत्या गोली मारकर कर दी गई है।
महिला की बंदूक के साथ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

मृतका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले में आरोप है कि ससुरालपक्ष के लोग दहेज में दो लाख रूपये मांग रहे थे।मृतका की शादी दो महीने पहले ही हुई थी।पुलिस का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच जारी है। ससुरालपक्ष के बयान की भी जांच की जाएगी।

एएसपी कपिलदेव सिंह का कहना है कि शाहाबाद कस्बे में एक पति-पत्नी के द्वारा कथित तौर पर सेल्फी लेने के दौरान गोली चल जाने की घटना सामने आई है।दोनों के मोबाइल बरामद हुए हैं। बंदूक भी बरामद कर ली गई है। दावा किया जा रहा है कि लापरवाही से गोली चलने से भी मौत हो सकती है। वहीं परिजन चाहते हैं कि पूरे मामले की जांच दहेज हत्या के एंगल से की जाए।मृतका का नाम राधिका है। मृतका के परिजनों ने पति आकाश, ससुर राजेश, सास पूनम, और जेठ उमंग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। ससुराल पक्ष बार-बार कह रहा है कि फोटो लेने के दौरान ही बंदूक से गोली चल गई थी और महिला की मौत हो गई थी।

राधिका माधौगंज कस्बे के अन्नपूर्णा नगर में रहती थी। मृतका की जिस बंदूक से मौत हुई है, वह उसके ससुर की थी, जो पंचायत चुनावों के दौरान जमा हो गई थी, जिसे उसके ससुर कोतवाली से लेकर आए थे। बंदूक आने के एक घंटे बाद ही गोली लगने से महिला गंभीर रूप से जख्मी हो गई थी और ससुराल पक्ष उसे लेकर स्वास्थ्य केंद्र शाहाबाद गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। राधिका के गले में गोली लगी थी, जो आर-पार हो गई थी। पुलिस ने बंदूक और राधिका के मोबाइल को अपने कब्जे में ले लिया है। घटना के बाद राधिका के मायके के लोग भी मौके पर पहुंचे। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

‘‘सभी का सभी से प्रेम-एकात्म मानवदर्शन‘‘: प्रो. उपेन्द्र नाथ त्रिपाठी क़

रिपोर्ट योगेश श्रीवास्तव गोरखपुर। दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ, पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की जयन्ती 25 सितम्बर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *