Breaking News

भाजपा व सपा एक सिक्के के दो पहलू: सतीशचंद्र मिश्र

 

अयोध्या रिपोर्टर कामता शर्मा

सुल्तानपुर भाजपा व सपा दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं। 2007 में जब ब्राह्मण समाज ने एकजुटता दिखाई तो उत्तर प्रदेश में 17 वर्षों बाद बसपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी। उस सरकार में दर्जनों ब्राह्मण कैबिनेट मंत्री बनाये गए और उन्हें काम करने की खुली छूट दी गयी। अन्य पदों पर भी बड़ी तादात में ब्राह्मणों को रखकर बहन मायावती ने ब्राह्मण समाज का सम्मान बढ़ाया था। यह बातें प्रबुद्ध सम्मेलन कादीपुर मे बोलते हुए पूर्व महाधिवक्ता व राज्यसभा सदस्य सतीशचंद्र मिश्र ने कही।
बसपा के कद्दावर नेता श्री मिश्र ने कहा कि गैर बसपा सरकार में ब्राह्मणों को केवल दिखावटी स्थान मिला। मंत्रियों को जो विभाग भी मिला उस पर बिना मुख्यमंत्री के आदेश के कोई काम करने की छूट नहीं थी। बहन जी ने 82 ब्राह्मणों को टिकट दिया था.

जिसमें से 45 जीते थे। कई ब्राह्मण एमएलसी बनाये गए। विधानसभा अध्यक्ष भी ब्राह्मण को ही बनाया गया था। मिश्र ने कहा कि बिकरू कांड से जुड़ी खुशी दुबे को निर्दोष होते हुए भी फर्जी मुकदमे लगवाकर प्रदेश सरकार जानबूझकर जमानत नहीं होने दे रही हैं। विकास दुबे का बिना नाम लिए ही गाड़ी फिसलवाकर पुलिस से ब्राह्मणों की हत्या कराने का आरोप योगी सरकार पर लगाया। भाजपा सरकार पर झूठ बोलने व किसानों, महिलाओं व नवजवानों को गुमराह करने का आरोप लगाया।

 

तीनों किसान बिल को किसान विरोधी बताते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह से तेल कंपनियों, एलआईसी, हवाई जहाज, रेलवे को भाजपा सरकार ने बेच दिया उसी प्रकार किसानों की जमीन भी कम्पनियों के हाथ बेच देना चाहती है। अब वक्त आ गया है कि ब्राह्मण एकजुट हो और परशुराम का असली रूप दिखाते हुए 2022 में बहन कु मायावती को मजबूत करें, जिससे ब्राह्मणों के सम्मान की रक्षा हो सके। पूर्व मंत्री नकुल दुबे ने भाजपा को ब्राह्मण विरोधी बताते हुए 2022 में बदला लेने का संकल्प दिलाया।

कार्यक्रम के आयोजक पूर्व एम एल सी डॉ0 ओम प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन काफी सफल रहा ।
इस अवसर पर सतीश मिश्र को चाणक्य सम्मान 2021 से नवाजा गया। कार्यक्रम में शैलेन्द्र त्रिपाठी, डॉ डीएस मिश्रा, मिथिलेश मिश्र, पूर्व विधायक भगेलूराम, पूर्व जिला पंचायत सदस्य गुड्डू उपाध्याय सहित अन्य लोग थे। कई लोगों बसपा की सदस्यता ग्रहण की

महमूदपुर जंगलिया में दिया गया स्मृति चिह्न कादीपुर में प्रबुद्ध सम्मेलन से लौटते समय बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीशचन्द्र मिश्र का काफिला जयसिंहपुर विधानसभा में स्थित पूर्व एमएलसी डॉ. ओमप्रकाश त्रिपाठी के घर जंगलिया पहुंचा। वहां उनका जोरदार स्वागत किया गया। डॉ. त्रिपाठी व पूर्व उपमंत्री डॉ. शैलेन्द्र त्रिपाठी ने उन्हें स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया।श्री मिश्र ने वहां पारस शिवलिंग की विधिवत मंत्रोच्चार व शंखध्वनि के बीच पूजन अर्चन किया।

जहाँ हर हर महादेव व जय श्री राम के जयघोष से क्षेत्र गुंजायमान हो गया । इस बीच वहाँ उपस्थित एडवोकेट संघ ने श्री मिश्र को स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत किया ।क्षेत्र के ब्राह्मण समूह ने भगवान परशुराम की फोटो भेट किया और 2022 में बसपा सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद दिया ।

मीडिया से बात करते हुए डॉ0 ओम प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि कार्यक्रम में उपस्थित क्षेत्र वासियों ने जनपद में बसपा को जिताने का संकल्प लिया और कहा कि पूरे प्रदेश में बसपा की सरकार बनेगी और बहन कु0 मायावती प्रदेश की मुख्यमंत्री होंगी ।विजय प्रकाश त्रिपाठी सत्यप्रकाश त्रिपाठी,महंथ त्रिपाठी,रानु प्रधान,डॉ शिवेंद्र त्रिपाठी,शिवशंकर त्रिपाठी,राम अजोर पाण्डेय, कुन्नू पांडेय,अनिल पाठक,बबलू पाठक,विभव त्रिपाठी,पुष्कर तिवारी,श्रीश त्रिपाठी,ज्योतिरादित्य त्रिपाठी,शौर्यदित्य त्रिपाठी,इंद्रेश त्रिपाठी,अखिलेश दूबे, हरिकेश तिवारी सहित सैकड़ों की संख्या में क्षेत्र के गणमान्य लोग मौजूद रहे ।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

‘‘सभी का सभी से प्रेम-एकात्म मानवदर्शन‘‘: प्रो. उपेन्द्र नाथ त्रिपाठी क़

रिपोर्ट योगेश श्रीवास्तव गोरखपुर। दीनदयाल उपाध्याय शोधपीठ, पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की जयन्ती 25 सितम्बर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *