Breaking News

फिर उठी फरीदाबाद, पलवल के कॉलेजों को जेसी बोस वाईएमसीए से जोड़ने मांग

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट

फरीदाबाद:फरीदाबाद,पलवल और मेवात के सभी सरकारी एवं प्राईवेट कॉलेजों को एमडीयू रोहतक विश्वविद्यालय से हटा कर जेसी बोस वाईएमसीए विश्वविद्यालय से जोड़ने की मांग करीब 9 साल बाद फिर से उठने लगी है। जिसको लेकर उच्चतर शिक्षा मंत्री मूलचंद शर्मा को युवा आगाज संगठन के संयोजक जसवंत पवार के नेतृत्व में दर्जनों विद्यार्थियों ने ज्ञापन सोंपा,इस मौके पर फरीदाबाद के कई कालेजों के अध्यापकगण भी मौजूद रहे। युवा आगाज ने विद्यार्थियों की परेशानियों को देखते हुए सर्वप्रथम 2014 में यह मांग उठाई थी।

उसके बाद से युवा आगाज संगठन के संयोजक जसवंत पवार समय-समय पर इस मांग को संबंधित विधायक मंत्री और अधिकारियों के सामने उठाते हुए आ रहे हैं। जसवतं पवार ने कहा कि फरीदाबाद हरियाणा का प्रमुख औद्योगिक शहर रहा है,दिल्ली के नजदीक और इंडस्ट्रियल शहर होने के कारण रोजगार के लिए लोग दूसरे राज्यों से यहां पर भारी तादाद में आ रहे हैं। जिससे फरीदाबाद की जनसंख्या 30 लाख के करीब हो गई है और हर वर्ष तकरीबन डेढ़ लाख छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा के लिए आवेदन करते हैं,लेकिन अपनी यूनिवर्सिटी ना होने के कारण बहुत से छात्र-छात्राएं एजुकेशन से वंचित रह जाते हैं। पिछले कुछ वर्षों में फरीदाबाद शैक्षणिक हब के रूप में अपनी एक नई पहचान बनाई है।

 

फरीदाबाद में निजी और सरकारी कॉलेजों की संख्या 57 है एक सरकारी विश्वविद्यालय 3 निजी यूनिवर्सिटी है जिसमें लाखों छात्र पढ़ते हैं अधिकांश कॉलेज एमडी यूनिवर्सिटी रोहतक से संबंधित हैं। जिसके चलते किसी भी शैक्षणिक कार्य हेतु रोहतक जाना पड़ता है इसके कारण छात्रों एवं अभिभावकों को बहुत परेशानी होती है। पवार ने कहा कि फरीदाबाद के सभी कॉलेजों को जेसी बोस यूनिवर्सिटी वाईएमसीए से जोड़ दिया जाए तो लाखों छात्रों को बहुत बड़ी राहत मिलेगी। छात्रों को पर्याप्त अवसर ना मिलने से प्रतिवर्ष हजारों छात्र अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़ देते हैं। पहले भी विभिन्न छात्र संगठनों द्वारा शहर में सरकारी यूनिवर्सिटी बनाने की मांग की गई है। यदि सरकार फरीदाबाद के सभी कॉलेजों को जेसी बोस यूनिवर्सिटी वाईएमसीए से जोड़ देती है,तो युवाओं की रोहतक की दौड़-धूप समाप्त हो जाएगी और क्षेत्र के लाखों छात्रों को बहुत बड़ी राहत मिलेगी उक्त निर्णय से हरियाणा सरकार का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की सार्थकता बढ़ेगी और युवा वर्ग में सरकार की लोकप्रियता प्रसांगगिक होगी।

हाल ही मंत्री मूलचंद शर्मा को उच्चतर शिक्षा मंत्रालय मिलने के बाद फरीदाबाद के विद्यार्थियों के एक नई उम्मीद नजर आ रही है क्योंकि अभी तक फरीदाबाद के किसी विधायक के पास ये मंत्रालय नहीं था इसलिए उनकी मांग हमेशा ठंडे बस्ते में पड़ जाती थी। उच्चतर शिक्षा मंत्री मूलचंद शर्मा ने ज्ञापन स्वीकार करते हुए कहा कि जल्द विद्यार्थियों की परेशानियों को देखते हुए कालेजों को एमडीयू रोहतक विश्वविद्यालय से हटा कर जेसी बोस वाईएमसीए विश्वविद्यालय से जोड़ने की मांग पर काम किया जाएगा। उम्मीद है कि आने वाले सैशन से विद्यार्थियों को एमडीयू रोहतक के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। इस मौके पर हिमांशु भट्ट,दीपक आजाद,जुगनू,सुनील सैनी,प्रिया सूर्यवंशी,शिवम पांडे मौजूद रहे।

 

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

ब्रेकिंग न्यूज़: सांसद खेल प्रतियोगिता का हुआ आगाज

  अयोध्या ब्यूरो कामता शर्मा अयोध्या। बीकापुर के भारती इंटर कॉलेज खेल के मैदान में …