Breaking News

पश्चिमी चंपारण बिहार: सभी रेलगाड़ी को बगहा रेलबे से गुजरने पर ठहराव है जरूरी

सभी रेलगाड़ी को बगहा रेलबे से गुजरने पर ठहराव है जरूरी
बगहा से 40 K.m वालमिकनगर,(टूरिस्ट प्लेस )एवं नेपाल बार्डर 20K.m.थरूहट की राजधानी हरनाटाॅड,बगहा से 20K.mकी दूरी पर लक्षमीपुरसौराहा,30-35Km.की दूरी पर अवस्थित धनहा, ठकराहाॅ मधुबनी प्रखंड मुख्यालय, उपरोक्त ये सभी क्षेत्र रेलवे -लाइन विहीन क्षेत्र हैं, और इन सभी का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन बगहा ही है|
फिर भी N.D.A.और भाजपा की सरकार और यहाँ के सभी माननीयों एवं रेलवे द्वारा पूर्णतः उपेक्षित रखा गया है, मात्र 380 k.m.की गोरखपुर -नरकटियागंज -मुजफ्फरपुर -पटना को तीन टुकड़े मे बाँट कर दुरूह और दुष्कर बना दिया गया है, बगहा जैसे स्टेशन पर हर नयी शुरू होने वाली ट्रेन के ठहराव के लिए वर्षों आन्दोलन के लिए मजबूर किया जाता है, इतने बृहत -क्षेत्र को कभर करने वाले बिहार के अन्तिम स्टेशन के लिए तो रेलवे का permanent स्टैंडिंग आदेश होना चाहिए कि इस स्टेशन से गुजरने वाली सभी ट्रेनों का बगहा मे अनिवार्य रूप से ठहराव हो,परंतु हर बार बगहा के साथ अन्याय शुरू हो जाता है|
1 साल बाद भी अनगिनत अनुरोध के बावजूद कटरा -कामाख्या ट्रेन का ठहराव बगहा नही हो रहा है, बिहार के बगहा का ही बिहार की राजधानी पटना से ढाई साल गंगा पर पुल निर्माण के बावजूद एक भी सीधी ट्रेन सेवा उपलब्ध नही है, फिर अब 10 अप्रैल 2018 से शुरू होनेवाली हमसफर ट्रेन से भी इस 40 K.M.के रेलवे लाइन विहीन Radius वाले क्षेत्र के सबसे नजदीकी स्टेशन बगहा को उपेक्षित कर दिया गया है, अब बगहा की जनता ही अविलंब उचित निर्णय ले कि भाजपा सरकार एवं यहाँ से चुने गये माननीयों के साथ कैसे निपटा जाय ।
 
रिपोर्ट विजय कुमार शर्मा ibn24x7news पश्चिमी चंपारण बिहार

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

मोदी सरकार ने अग्रेजो के बनाये कानून में किया बड़ा बदलाव अब 24 घण्टे होगा पोस्टमार्टम

  केंद्र सरकार ने हत्या, आत्महत्या, बलात्कार, क्षत-विक्षत शव और संदिग्ध मामलों को छोड़कर, उचित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *