Breaking News

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में खासा सुधार है

उम्मीद है कि अगले कुछ दिन में हम उन्हें छुट्टी दे सकते हैं। उन्हें यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, लोवर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और किडनी संबंधी बीमारियों के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में सोमवार को भर्ती कराया गया है।
अटल बिहारी वाजपेयी की हालत स्थिर, हालचाल जानने एम्स पहुंचे मनमोहन सिंह
सूत्रों ने बताया कि एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की निगरानी में चिकित्सकों की एक टीम उनके स्वास्थ्य की निगरानी कर रही है। सूत्र ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री का सोमवार को डायलिसिस हुआ था। वह अभी भी एम्स के कार्डियोथोरैकिक केन्द्र के आईसीयू में हैं।
मधुमेह से पीड़ित वाजपेयी की सिर्फ एक किडनी काम करती है। उन्हें 2009 में आघात आया था। बाद में उन्हें डिमेंशिया की शिकायत हो गयी। प्रथम तल पर मौजूद आईसीयू के पूरे गलियारे का घेराव कर दिया गया है और केवल मरीज के सहायकों और रिश्तेदारों को प्रमाण दिखाने के बाद ही वहां जाने की अनुमति दी जा रही है।
एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में खासा सुधार है। उम्मीद है कि अगले कुछ दिन में हम उन्हें छुट्टी दे सकते हैं। उन्हें यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, लोवर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और किडनी संबंधी बीमारियों के कारण अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में सोमवार को भर्ती कराया गया है।
अटल बिहारी वाजपेयी की हालत स्थिर, हालचाल जानने एम्स पहुंचे मनमोहन सिंह
सूत्रों ने बताया कि एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया की निगरानी में चिकित्सकों की एक टीम उनके स्वास्थ्य की निगरानी कर रही है। सूत्र ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री का सोमवार को डायलिसिस हुआ था। वह अभी भी एम्स के कार्डियोथोरैकिक केन्द्र के आईसीयू में हैं।
मधुमेह से पीड़ित वाजपेयी की सिर्फ एक किडनी काम करती है। उन्हें 2009 में आघात आया था। बाद में उन्हें डिमेंशिया की शिकायत हो गयी। प्रथम तल पर मौजूद आईसीयू के पूरे गलियारे का घेराव कर दिया गया है और केवल मरीज के सहायकों और रिश्तेदारों को प्रमाण दिखाने के बाद ही वहां जाने की अनुमति दी जा रही है।
 
विजय कुमार शर्मा बिहार

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

सरकार, नेता, अधिकारी व मानव निर्मित नियम धर्म मे हस्तक्षेप न करें

(१)श्रीनाथजी के सखा बृजवासी है ! सन् 1409 से सन् 1506 (97 वर्ष) तक श्री …