Breaking News

बेतिया बेतिया में स्कूल की छत के कुछ भाग टूट कर गिरने से एक बच्चे मौत , कई बच्चे घायल

बेतिया में स्कूल की छत के कुछ भाग टूट कर गिरने से एक बच्चे मौत , कई बच्चे घायल
बेतिया:-चर्च रोड स्थित संत थॉमस मिशन स्कूल मे पाठशाला के पहला ए क्लास की छठ का एक हिस्सा टूट कर गिर जाने से एक बच्चे की मौत हो गई। वहीं एक दर्जन बच्चे बुरी तरह घायल हो गए। नगर में इसकी सूचना फैलते ही लोग मे अपने अपने बच्चो की चिंता बड़ गई और रोते हुए स्कूल की तरफ दौड़ने लगे पूरे शहर में अफरा तफरी मच गई। घटना के बाद स्कूल प्रबंधन ने अपने स्कूल के मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया और पीछे के रास्ते संत थॉमस स्कूल की ओर से घायल बच्चों को बारी बारी से निकाल कर पास के एक निजी क्लीनिक में ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद एंबुलेंस से बेतिया सदर अस्पताल ले जाया गया।
इस दौरान सूचना पाकर घटनास्थल पर एक पत्रकार को फोटो लेने के क्रम में स्कूल प्रबंधन द्वारा स्कूल के भीतर बंद कर दिया गया उससे कहा गया कि जब तक फादर नहीं आते हैं आपको बाहर नहीं जाना होगा उसके फोटो कैमरा को भी छीनने का प्रयास किया गया भीतर से ही अपने को बंधक बनाए जाने की सूचना बेतिया पुलिस अधीक्षक और अपने साथियों को भी दी। घटना के बाद किसी को भी प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा था।सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंचे काली बाग ओपी प्रभारी मनीष कुमार शर्मा के आने के बाद ही मेन गेट का ताला खोला गया।और कुछ पत्रकार उनके साथ प्रवेश किए घटनास्थल पर स्कूल का गेट बंद कर वहां बच्चों के खून को पानी से धोकर साक्ष्य मिटाने का प्रयास किया गया था। इसके बाद बेतिया एसपी जयंत कांत ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया और वहा तैनात पुलिस पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया। इस संदर्भ में जांच कर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी , और साक्ष्य मिटाने के प्रयास का भी अलग से प्राथमिकी दर्ज की जाएगी ।
घटनास्थल पर काफी भीड़ उमड़ पड़ा और लोग शोर शराबा करने लगे। लेकिन मौके पर एनडीआरएफ की टीम, अग्निशामक दस्ता तथा दंगा नियंत्रण वाहन के पहुंच जाने से स्थिति पर काबू पाया गया । सभी घायल बच्चों का इलाज एमजेके सदर अस्पताल में की जा रही है। इस घटना को लेकर नगर में भारी आक्रोश देखा जा रहा है । बताते चलें की जिले में शिक्षा व्यवसाय का रूप ले चुका है। अधिकांश निजी स्कूलों का भवन एवं उनका परिसर स्कूल चलाने के अनुरूप नहीं है । लेकिन फिर भी पैसा और पैरवी के बल पर यह निजी स्कूल चल रहे हैं।इनको देखने वाला तक कोई नहीं है। बताते है कि जिस स्कूल भवन का छत टूट कर गिरा है उसका निर्माण 1957 में किया गया था। उसके बाद से अब तक उसका रंगाई पुताई कर ही काम चलाया जाता रहा है।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने अफगानिस्तान में पत्रकार दानिश सिद्दिकी की मौत पर दी श्रद्धांजलि

Ibn news रिपोर्ट लखनऊ सैफ अली पत्रकार न्यूज 24 चैनल को सर्वसम्मति से इंडियन जर्नलिस्ट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *