Breaking News

मड़िहान मिर्जापुर – लाखों खर्च,फिर भी किशोरियां असुरक्षित गांव के सिवान में संचालित होता है संवासिनी गृह,बालिकाएं खुशहाल

मड़िहान नक्सल क्षेत्र के देवरी कला गांव स्थित दिल्ली सरकार के अधीन महिला अल्पावास अब महिला स्वाधार गृह में बदल दिया गया।राज्य सरकार का लाखों खर्च होने के बावजूद संवासिनी गृह में महिला,बच्चे किशोरियां असुरक्षित है।हाला की महिला सुधार गृह की किशोरियां खुशहाल हैं।पूछताछ में किशोरियों ने स्वाधार केन्द्र की कोई शिकायत नही की।
गुरुवार को लखनऊ की टीम ने जांच के दौरान महिला स्वाधार गृह के टिन सेड कमरे व कटीले तार की घेराबन्दी देख भड़क गयी।कहा कि चहारदीवारी न होने से किशोरियां महफूज नही हैं।टीम की सदस्य ने कहा कि मजिस्ट्रेट के आदेश पर ही यहाँ किशोरियों को रखा जाना चाहिए।पूछने पर अधीक्षिका संस्कृति देवी ने बताया कि भूली भटकी किशोरियां आती हैं उन्हें डीपीओ के आदेश पर रखा जाता है।उन्ही के आदेश पर परिजनों को सौंपा जाता है।सुरक्षा के लिए चार महिला गार्ड दो-दो महिलाओं की डियूटी आठ घंटे रहती है।रात में एक चौकीदार रहता है।महिला सुधार गृह चौकीदार,गार्ड समेत बारह कर्मचारियों की निगरानी में है। पुरुष कर्मचारी की नियुक्ति होने पर टीम ने एतराज जताया।अधीक्षिका को निर्देश दिया कि उन्हें तत्काल हटाया जाय।परिसर में महिला कर्मचारियों का ही प्रवेश होना चाहिए।आवास व कार्यालय में सीसीटीवी कैमरा भी नही लगाया गया है।नक्सल क्षेत्र में चाइल्ड लाइन केंद्र सुरक्षा की दृष्टि से महफूज नही है।मानक के विपरीत सुधार गृह का रजिस्ट्रेशन कैसे हो गया।यह अपने आप में सवाल खड़ा करता है।जिसपर सरकार का लाखों रुपये जाया हो रहा है।
रिपोर्टर शरद मिश्र

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

महरुआ पुलिस की नाकामी के कारण सरेआम घूम रहे हत्या के आरोपी

  कोर्ट के आदेश के बावजूद भी पुलिस नहीं कर पा रही गिरफ्तार सीजेएम ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published.