Breaking News

हाईअलर्ट पर अयोध्या, चप्पे-चप्पे पर निगहबानी, 42 बटालियन पीएसी तैनात

हाईअलर्ट पर अयोध्या, चप्पे-चप्पे पर निगहबानी, 42 बटालियन पीएसी तैनात

विहिप की धर्म सभा और शिवसेना के कार्यक्रम को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट पर है। शनिवार की सुबह भक्तों को रामलला तक जाने में कोई दिक्कत नहीं हुई, मगर शिवसेना का आशीर्वाद समारोह समाप्त होते-होते सुरक्षा घेरा गलियों से लेकर सड़कों पर कस गया।

लखनऊ के एडीजी आशुतोष पांडेय, डीआईजी ओंकार सिंह खुद गलियों में फोर्स के साथ उतरे जबकि डीएम डॉ.अनिल कुमार व एसएसपी योगेंद्र की टीम शिवसैनिकों की एक-एक गतिविधियों पर नजर रख रही थी। सभी को सभा के बाद बैरीकेडिंग करके सीधे नयाघाट मार्ग पर निकाला गया। प्रशासन इस बात को लेकर सर्तक था कि शिवसैनिक रास्तों से अनजान हैं, यदि वे अनजानी गलियों में घुसे तो किसी भी तरह की हरकत तनाव पैदा कर सकती है।
एटीएस कमांडो, आरपीएफ, पीएसी के साथ सिविल पुलिस की तैनाती से अयोध्या छावनी में तब्दील हो गई है। सुरक्षा की कमान एडीजी आशुतोष पांडेय, बरेली के डीआईजी सुभाष सिंह बघेल के साथ फैजाबाद के डीआईजी ओंकार सिंह, एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने संभाल ली है। शनिवार को फैजाबाद से अयोध्या प्रवेश मार्ग पर पहली बैरिकेडिंग जालपा देवी चौराहे पर दिखी, यहां चौराहे पर बने गेट पर बैरिकेडिंग लगाकर किसी तरह के वाहनों को अंदर नहीं जाने दिया जा रहा था।
इससे आगे बढने पर टेढ़ी बाजार चौराहे से अयोध्या व विवादित परिसर जाने वाले रास्ते पर भी द्विस्तरीय बैरिकेडिंग लगाई गई थी। इन दोनों जगहों पर भारी संख्या में पुलिस व पीएसी के जवान तैनात दिखे। इसके अलावा अयोध्या में प्रवेश के अन्य मार्ग बूथ नंबर-4, मोहबरा बाजार, रामघाट चौराहा, बंधा तिराहा, रामघाट हाल्ट समेत अन्य गलियों वाले रास्तों पर भी बैरिकेडिंग लगाकर भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है।
विहिप की धर्मसभा स्थल से अयोध्या आने वाले रास्तों पर भी बैरिकेडिंग
विहिप की धर्मसभा आज परिक्रमा मार्ग स्थित बड़े भक्तमाल की बगिया में होनी है। इसको लेकर कार्यक्रम स्थल पर पीएसी व सीआरपीएफ के जवानों के साथ सिविल पुलिस की तैनाती की गई है। वहीं सुरक्षा की दृष्टि से यहा से अयोध्या जाने वाले सभी मार्गों व गलियों में भी बैरिकेडिंग कर सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए है। बड़े भक्तमाल की बगिया से बड़ी छावनी होकर हनुमान कुंड व अयोध्या रेलवे क्रॉसिंग मार्ग, कांशीराम कालोनी होते हुए रामघाट चौराहे से अयोध्या प्रवेश मार्ग के अलावा अन्य छोटी-छोटी गलियों पर भी बेरिकेडिंग लगाई गई है।
विवादित परिसर जाने वाले सभी मार्ग संगीनों के साए में

अयोध्या के हनुमानगढ़ी चौराहा, दीनदयाल मोड़, टेढ़ी बाजार, पुराना बस स्टेशन, अशर्फी भवन समेत कई अन्य छोटे रास्तों पर द्विस्तरीय बेरिकेडिंग लगाकर प्रत्येक पर सैकड़ों की संख्या में पीएसी व पुलिस के हथियारबंद जवानों की तैनाती की गई है। इसके अलावा हनुमानगढ़ी, कनक भवन, रामजन्मभूमि के आसपास के क्षेत्रों में सीआरपीएफ व एटीएस कमांडो को तैनात किया गया है। शनिवार को श्रीरामजन्मभूमि दर्शन को जाने वाले श्रद्धालुओं को समूह में दर्शन करने के लिए नहीं जाने दिया गया, श्रद्धालुओं को पांच-पांच के जत्थे में जाने दिया गया।
5 कंपनी आरएफ, 42 कंपनी पीएसी के साथ भारी पुलिस बल तैनात
अयोध्या में सुरक्षा की कमान एडीजी आशुतोष पांडे ने संभाल ली है। उनके साथ अयोध्या में एसएसपी व एसपी सिटी रहे वर्तमान में बरेली के डीआईजी सुभाष सिंह बघेल को भी लगाया गया है। इसके अलावा फैजाबाद के डीआईजी ओंकार सिंह, एसएसपी जोगेंद्र कुमार भी पल-पल की खबर ले रहे हैं। एसपी सिटी अनिल सिंह सिसौदिया ने बताया कि 10 एएसपी, 21 डीएसपी, 160 इंस्पेक्टर, 300 उपनिरीक्षक, 700 कांस्टेबल के साथ-साथ 42 कंपनी पीएसी, 5 कंपनी आरएफ समेत एटीएस कमांडो सुरक्षा को सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। इसके अलावा वाटर कैनन, बम व डॉग स्क्वॉयड, दंगा नियंत्रण वाहन के साथ-साथ खुफिया व सादी वर्दी में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। बताया कि शिवसेना व विहिप के कार्यक्रम स्थल पर सीसीटीवी व ड्रोन कैमरों से निगरानी रखी जाएगी। बताया कि विवादित स्थल जाने वाले रास्तों पर पडने वाले मंदिर व धरों की छतों पर भी सुरक्षाकर्मी तैनात होंगे।
बेरिकेडिंग सुरक्षा के लिए,दर्शन करने से किसी को रोका नहीं जाएगा।
फैजाबाद के डीआईजी ओंकार सिंह ने बताया कि बेरिकेडिंग व सुरक्षा बल लोगों की सुरक्षा के लिए हैं। शहर में आने जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है, रातजन्मभूमि दर्शन करने वालों को कहीं नहीं रोका जाएगा, सिर्फ समूह में दर्शन करने जाने नहीं दिया जाएगा। बताया अयोध्या के अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए कड़े इंतजाम किए गए है, इकबाल अंसरी समेत अन्य मुस्लिम नेताओं के आवास व मोहल्लों में अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। जिलाधिकारी डा. अनिल कुमार ने स्पष्ट कहा कि कानून व्यवस्था से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं होगी, आयोजकों ने शांतिपूर्वक कार्यक्रम करने का आश्वासन दिया गया है।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

मुख्यमंत्री योगी ने बाढ़ से निपटने की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारियों संग की वीडियो कांफ्रेंसिंग

    रिपोर्ट ब्यूरो   गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास …

Leave a Reply

Your email address will not be published.