Breaking News

मिर्जापुर: पानी की परियोजना देखने आए मुख्यमन्त्री का बादलों ने किया खैर-मकदम 

पानी की परियोजना देखने आए मुख्यमन्त्री का बादलों ने किया खैर-मकदम 
मिर्जापुर:  जोगियाधरी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मन जिले के हलिया में बने जोगियारंग में रंगी बाणसागर परियोजना को देखते ही बादलो की तरह ऐसा उमड़ा-घुमड़ा कि जिस जिस रास्ते से वे गुजरते गए उस उस रास्ते पर इंद्र देव झूम कर पानी बरसाते रहे ।
बुधवार को मुख्यमंत्री जब अदवा वैराज पर पहुंचे तो वैराज के रंग के अलावा अद्भुत परियोजना, उस स्थल की प्राकृतिक छटा को देखकर झूम उठे ।
वैराज की रेलिंग पर खड़े होकर निहारा
वैराज पर पहले अदवा डैम की ओर जाने वाले पानी, फिर वैराज से मेजा लिंक नहर को देखा । वहां पर उन्हें आडियो विजुयल स्क्रीन पर 5 मिनट की फ़िल्म दिखाई गई । योगी ‘वाह’ कहने से पीछे नहीं रहे । परियोजना के इंजीनियरों से इस साइट को और भी खूबसूरत बनाने के लिए 15 अगस्त ’18 तक सघन वृक्षारोपण के लिए कहा । उनका संकेत इस स्थल को उत्तराखण्ड के प्राकृतिक स्थलों की तरह बनाने का था । आडियो वीडियो स्क्रीन के पास ही एक बड़े बोर्ड पर नक्शा एवं उसका डिटेल अंकित था ।
टेम्पररी कॉटेज में मीटिंग
वैराज पर तकरीबन 20 मिनट सब कुछ देख-समझ वे नगर में चंदईपुर आए, जहाँ 15 जुलाई को पी एम की सभा होनी है । बादलों का स्वागत-भाव देख कर वे कमिश्नरी में ऑफिसरों एवं पार्टी नेताओं की बैठक स्थगित कर वहीं सब को बुलवा लिया । वहीं कॉटेज में गुफ्तगूं कर वे जैसे ही आकाशमार्गी हुए कि यहां भी बादल सिर्फ गरजे ही नहीं बल्कि बरसे भी । कुछ का कहना था कि जमीन पर पानी की परियोजना पर वरुणदेव ने भी अपनी परियोजना का एकाध गेट खोल दिया । लिहाजा भीषण गर्मी से बेहाल जन-जीवन ने राहत ली ।
इस पूरे कार्यक्रम में केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल, प्रदेश के सिंचाईमंत्री धर्मपाल सिंह, भापजा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय, भदोही सांसद वीरेंद्र सिंह, विधायकगण आशीष पटेल, रत्नाकर मिश्र, रमाशंकर सिंह, शुचिस्मिता मौर्य, अनुराग सिंह, सिंचाई के प्रमुख सचिव टी0 वेंकटेश, मण्डलायुक्त मुरलीमनोहर लाल, डीआईजी पीयूष श्रीवास्तव, जिलाधिकारी अनुराग पटेल, एसपी आशीष तिवारी, सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता लेविल-1 गोविंदचन्द, मुख्य अभियंता राकेश शर्मा, अधीक्षण अभियंता राकेश कुमार, अधिशासी अभियन्ता सुरेश यादव अलग-अलग साइटों पर पसीना बहाते देखे गए ।
तुम्हीं से मोहब्बत, तुम्हीं से लड़ाई
ऐसे मौकों पर पत्रकारों का पुलिस से 36 का आंकड़ा प्रायः हो जाता है । इस बार भी हुआ । गैर जनपद से आए एक पुलिस अधिकारी ने-‘सभी पत्रकारों को खदेडों यहाँ से’ ललकार कर मातहतों को यह संदेश देना चाहा कि इसी वर्ग से सबकुछ गड़बड़ होगा । जबकि सामान्य दिनों में पुलिस और पत्रकारों की पीसी लगभग रोज ही हो जाती है । कोई भी मामला वर्क आउट होता है, तब पत्रकार ही मेहमान की तरह बुलाए जाते है ।
 
रिपोर्ट विकास चन्द्र अग्रहरि ibn24x7news मिर्जापुर

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

भारतीय सेना का हेलिकॉप्टर क्रैश, विपिन रावत भी थे सवार, धूं-धूंकर जलता दिखा चॉपर

  तमिलनाडु के कुन्नूर में सेना का हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया. बताया जा रहा है …

Leave a Reply

Your email address will not be published.