Breaking News

मिर्जापुर – डी एम ने सीज किया छ क्रेशर प्लांट


अहरौरा – मीरजापुर। जिलाधिकारी मीरजापुर अनुराग पटेल ने बहुत दिनों से पाषाण विभाग के मिलीभगत से अवैध ढंग से चल रहे छ क्रेशर प्लांटों को सीज करने का आदेश देकर सीधे तौर पर पाषाण विभाग पर नकेल कस दिया है। जिलाधिकारी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में सीधे तौर पर लिखा है कि जिलाधिकारी के द्वारा बताए गये स्थानों की जगह उन्हें पाषाण विभाग के सर्वेयर द्वारा इधर उधर घूमाया गया और उनके द्वारा निर्देशित प्लांटों से दूर रखा गया और उन्हें भ्रमित करने की कोशिश की गई । इससे अजीज आकर जिलाधिकारी स्वयं प्लांटों के नाम और पतों की मालूमात ग्रामीणों और राहगीरों से की। जिलाधिकारी मिर्जापुर ने एक्शन लेते हुए अपनी सरकारी गाड़ी प्लांटों से दूर खड़ी करते हुए दूसरे वाहन टाटा सूमो की सहायता ली। जिलाधिकारी छ क्रेशर प्लांटों का दौरा करते हुए वहाँ की वस्तुस्थिति को व्यक्तिगत रूप से समझा। नियमानुसार उन्हें किसी भी प्लांट पर कागजात मांगने नहीं मिले। प्रदूषण वाले रास्ते से उनका सामना हुआ। धूल से पटे रास्ते थे। मानक के अनुसार बाउंडी वाल नहीं थे। रास्तों पर पानी का छिड़काव नहीं था। मानक के अनुसार वृक्षारोपण नहीं था। सबसे बड़ी हास्यास्पद बात तो यह रही कि जिलाधिकारी को खनिज स्टाक रजिस्टर तक नहीं दिखाया गया। प्लांटों के अभिलेख व भण्डारण के साथ ही साथ प्रदूषण के लाइसेंस तक प्रस्तुत किये गये। जिलाधिकारी के निर्देश पर साथ चल रहे खान अधिकारी आर बी सिंह ने इन छ क्रेशर प्लांटों को सीज करने की कार्रवाई की।
जिलाधिकारी ने कहा कि सर्वेयर एस के पाल की मिलीभगत से अवैध रूप से क्रेशर प्लांटों का संचालन किया जा रहा है। ऐसे में सर्वेयर पर गाज गिरनी तय मानी जा रही है।
सीज किये गये प्लांट
1.गणेश इंटरप्राइजेज प्रो चन्द्रजीत, बलजीत आदि स्थान जिगना थाना क्षेत्र अहरौरा
2.,लक्ष्मी क्रेशरप्लांट प्रो गणेश स्थान जिगना थाना क्षेत्र अहरौरा
3.राजस्टोन स्थान डकही प्रो राजकुमारी पत्नी अमरनाथ थाना क्षेत्र अहरौरा
4.दिग्विजय सिंह प्लांट धुरियां थाना क्षेत्र अहरौरा
5.प्लांट अमृता चौधरी पत्नी सुनील राय स्थान धुरियां थाना क्षेत्र अहरौरा
6.के के स्टोन स्थान जिगना प्रो सर्वोदय कुमार सिंह थाना क्षेत्र अहरौरा
इस दौरान एक प्लांट पर पाये गये 24 घन मीटर गिट्टी व 200 घन मीटर बोल्डर को सीज करने के साथ ही अहरौरा थानाध्यक्ष को निगरानी का निर्देश दिया गया जब कि धरम देव राय को इसकी सुपुर्दगी दी गयी।
सूत्रों के मुताबिक बहुत दिनों से ग्रामीण अवैध रूप से चल रहे प्लांटों के खिलाफ थे। ग्रामीणों द्वारा प्रदूषण मुक्ति की मांग की जा रही थी। तीव्र विस्फोट के खिलाफ आवाज उठाई जा रही थी और भारी मशीनों का उपयोग के खिलाफ भी ग्रामीण थे क्योंकि हाथ से खनन आदेश के वावजूद खनन माफिया भारी मशीनों का प्रयोग कर रहे थे। जिससे भूमि की उर्बरा शक्ति खत्म हो रही थी और उनके रोजगार के साधन पर प्रश्न चिन्ह लगा था। डी एम मिर्जापुर की इस कार्रवाई से ग्रामीणों में एक आस जगी है।
रिपोर्ट हरिकीशन अग्रहरि

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

मुख्यमंत्री योगी ने बाढ़ से निपटने की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारियों संग की वीडियो कांफ्रेंसिंग

    रिपोर्ट ब्यूरो   गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास …

Leave a Reply

Your email address will not be published.