Breaking News

मिर्जापुर: एफआईआर अथवा एनसीआर होने पर सम्बन्धित हल्का/बीट प्रभारी से होगी वीडियो कान्फ्रेन्सिंग लापरवाही पाये जाने पर होगी कठोर कार्यवाही, एस-10 व्यवस्था को किया जायेगा प्रभावी

एफआईआर अथवा एनसीआर होने पर सम्बन्धित हल्का/बीट प्रभारी से होगी वीडियो कान्फ्रेन्सिंग लापरवाही पाये जाने पर होगी कठोर कार्यवाही, एस-10 व्यवस्था को किया जायेगा प्रभावी
श्री आशीष तिवारी पुलिस अधीक्षक मीरजापुर महोदय ने जनपद मीरजापुर में अपराध की रोकथाम एवं अपराधियों की धरपकड़ हेतु प्रभावी पुलिसिंग व्यवस्था लागू किये जाने व एस-10 को प्रभावी बनाये जाने के उद्देश्य से जनपद के सभी राजपत्रित अधिकारीगणों एवं थाना प्रभारियों को निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक महोदय ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि थानों पर होने वाली एफआईआर अथवा एनसीआर के सम्बन्ध में सम्बन्धित हलका प्रभारी व बीट आरक्षी से वीडियों कान्फ्रेन्सिंग कर जानकारी की जायेगी तथा घटना के सम्बन्ध में जाँच होने पर जाँच में दोषी पाये जाने पर सम्बन्धित हलका प्रभारी व बीट आरक्षी के विरूद्ध कठोर कार्यवाही भी की जायेगी। इस सम्बन्ध में समस्त राजपत्रित अधिकारीगणों एवं थाना प्रभारीगणों को निर्देशित किया गया है।
साथ ही पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा यह भी निर्देश दिये गये कि समस्त थानों में घटने वाली छोटी-मोटी घटनाओं अथवा मुकदमों को निस्तारित कराये हेतु एस-10 का सहयोग भी लिया जायेगा तथा प्रत्येक बीट में एस-10 व्यवस्था को और प्रभावी बनाया जायेगा। साथ ही जमीन सम्बन्धी विवादों को भी एस-10 के सहयोग से निस्तारित कराया जायेगा। साथ नियमित रूप से ओआर किया जायेगा तथा ओआर में विवेचनाओं के निस्तारण, पुरस्कार घोषित अपराधियों/वांछितों/वारन्टियों की गिरफ्तारी, पशुओं/मादक पदार्थों/अवैध असलहों की तस्करी जैसे अपराधों की रोकथाम हेतु किये जा रहे प्रयासों की समीक्षा भी की जायेगी। साथ ही अपने कर्तव्यों अथवा विवेचना में किसी कर्मचारी द्वारा लापरवाही बरते जाने पर उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही करायी जायेगी। इस सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक मीरजापुर महोदय द्वारा सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है।
ज्ञातव्य हो कि पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश महोदय द्वारा अपराध की रोकथाम एवं विवेचनाओं के निस्तारण के सम्बन्ध में आम जन का सहयोग प्राप्त करने के दृष्टिगत बीट व्यवस्था को प्रभावी बनाये जाने हेतु हर गाँव के लिये एस-10 व्यवस्था की नवीन पहल की गयी है। जिसे जनपद मीरजापुर में प्रायोगिक तौर पर लागू किया गया है। एस-10 व्यवस्था के अन्तर्गत प्रत्येक गाँव में उस गाँव के सम्भ्रान्त 10 लोगों जिनमें ग्राम प्रधान, सेवानिवृत सरकारी कर्मचारी, ग्राम चौकीदार को मिलाकर एक ग्रुप बनाया जायेगा, जो उस क्षेत्र में होने वाले गैर कानूनी गतिविधियों/आपराधिक गतिविधियों/अवैध व्यापारों/तस्करी के सम्बन्ध में लाभप्रद सूचनायें सम्बन्धित पुलिस अधिकारी को उपलब्ध करायेंगे तथा उस क्षेत्र के छोटे-मोटे विवाद एवं समस्यायें दूर करने में पुलिस की मदद करेंगे। इस प्रकार से प्रभावी बीट व्यवस्था हेतु एस-10 को प्रभावी बनाकर गाँवों में कानून-व्यवस्था बनाये रखने में आम जन का सहयोग लिया जायेगा।
इसके साथ ही समस्त थाना प्रभारी रात्रिगणना के समय उस हलका इन्चार्ज व बीट आरक्षी से पूछताछ करेंगे जिसके हलका/बीट में कोई घटना घटित हुयी है तथा पूछताछ कर यह जानकारी लेंगे कि घटना को घटित होने से रोका जा सकता था कि नहीं तथा घटना घटित होने पर घटनास्थल पर सम्बन्धित हलका इन्चार्ज व बीट आरक्षी पहुँचे या नहीं । इस व्यवस्था से निचले स्तर तक के पुलिसकर्मियों की जिम्मेदारी तय हो सकेगी तथा लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के विरूद्ध पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा आवश्यक कार्यवाही करायी जायेगी। इससे हर पुलिसकर्मी अपने-अपने क्षेत्र में क्रियाशील रहेगा तथा अपराध में कमी के साथ ही कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया जा सकेगा।
इसके लिये पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन में जनपद के समस्त थानों में प्रत्येक हलका एवं बीट प्रभारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में जनचौपाल लगाकर पुलिस महानिदेशक महोदय के इस नवीन प्रयोग की आमजन को जानकारी दी जा रही है तथा व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है।
 
रिपोर्ट विकास चन्द्र अग्रहरि ibn24x7news मिर्जापुर

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

हरिजन बस्ती की जमीन को भूमाफिया ने जबरन किया कब्ज़ा

  रिपोर्ट रमेश चन्द्र त्रिपाठी   गोरखपुर। सहजनवां तहसील अंतर्गत गीडा थाने में ग्राम बोक्टा …

Leave a Reply

Your email address will not be published.