बेतिया : बिजली विभाग द्वारा सुधार के नाम पर बिजली आपूर्ति बाधित करना मानवाधिकार का हनन

विजय कुमार शर्मा प,च,बिहार
अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संघ भारत की जिला इकाई पश्चिम चंपारण के जिला अध्यक्ष श्रीमती सुरैया साहब ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर विद्युत विभाग पर भी आपत्ति जाहिर की है के प्रति एक दो दिन के अंतराल पर विद्युत विभाग में व्यवस्था सुधार करने के नाम पर 8 से 10 घंटे विद्युत आपूर्ति बाधित रखना मानवाधिकार का हनन का मामला लगता है।
उन्होंने आगे बताया कि प्रतिदिन इस तरह की घटना घटने से उपभोक्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है इसके अलावा लो वोल्टेज की समस्या, ट्रांसफार्मर का जलना ट्रांसफार्मर बदलने में देरी करना , बिजली का तार टूट कर गिरने से मनुष्य और जानवरों की बलि चढ़ना आम बात बन गई है , दिन प्रतिदिन की यह घटना से उपभोक्ताओं में बिजली विभाग के प्रति उदासीनता एवं इनके विभागीय पदाधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की मैं विद्युत विभाग में जाकर कार्यालय में तोड़फोड़ प्रदर्शन हंगामा और पदाधिकारियों के साथ अभद्र व्यवहार करना उपभोक्ताओं को मजबूरी के दिनों में ऐसा करने पर मजबूर किया जाता है तब भी विभाग के द्वारा उपभोक्ताओं की अनसुनी की जाती है । विद्युत विभाग लगता है कि अब वह विधवा विभाग का रूप धारण कर लिया है।
विभागीय पदाधिकारियों की मनमानी और खुले आम उपभोक्ताओं से गलत ढंग से राशि वसूल करने का मार्ग प्रशस्त किया जाता है जिसको रोकना अति अनिवार्य बन गया है। विद्युत विभाग अगर इसी तरह विद्युत की आपूर्ति में बाधा उत्पन्न करेगी तो मजबूर होकर उपभोक्ता बिजली विभाग को बिजली बिल का भुगतान करने में असमर्थता व्यक्त करेंगे। विद्युत विभाग इस तरह के कार्य करने में इस भीषण गर्मी को ही निशाना बनाकर उपभोक्ताओं को तंग करने का जिम्मा ले लिया है जिससे उपभोक्ता तंग आकर बिजली विभाग पर अपना निशाना साधने लगेंगे। विभाग को यह भी पता नहीं चल पाता है कि किस स्थिति में विभाग में सुधार करने की नियति बनानी चाहिए ताकि उपभोक्ताओं को इस भीषण गर्मी से निजात मिल सके।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

खैरा प्रखंड अंतर्गत बेला गांव में जमुई मेडिकल कॉलेज (जेएमसी) का निर्माण कार्य 14 दिसंबर से शुरू होने जा रहा

  रिपोर्ट टेकनारायण यादव IBN NEWS जमुई बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना से वर्चुअल तरीके …

Leave a Reply

Your email address will not be published.