Breaking News

बेतिया: जीएसटी की वर्षगांठ पर आयोजन हुआ कई कार्यक्रम

जीएसटी की वर्षगांठ पर आयोजन हुआ कई कार्यक्रम
केंद्र की भाजपा सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व में विगत वर्ष 1 जुलाई 2017 को नया कानून जीएसटी लागू किया गया है इस नियम को लागू करने में 20 जून 2017 की रात्रि 12:00 बजे लोकसभा का आपात बैठक बुलाकर नरेंद्र मोदी की सरकार ने अपने सांसदों के बीच रहकर इसने जीएसटी कानून को पूरे भारतवर्ष में लागू कर दिया इस कानून के तहत पूरे भारतवर्ष में एक टैक्स एक देश,एक दिन का नारा देकर लोगों को अचंभित कर दिया। इस नए नियम के इतिहास जीएसटी कानून के प्रावधानों में कई चुनौतियों को देखते हुए इस पर विचार विमर्श करने के लिए देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को एक साथ बैठा कर इसमें संशोधन करने पर विचार किया गया |
संशोधन के फलस्वरुप इस के दरों में कई वस्तुओं में कमी बेशी भी की गई। कई बार संसद उन दोनों के बीच भी आज तक इस पर कार्रवाई होती ही जा रही है मगर व्यवसाई वर्ग इस नए नियम के अंतर्गत आने वाले प्रधानों के विरुद्ध कई बार हड़ताल और बंदी का प्रोग्राम कर चुके हैं जिसके तहत सॉन्ग केंद्र सरकार की भाजपा सरकार को इनके आगे शबनम स्पष्ट करना पड़ा और सही संशोधनों करके जीएसटी की दरों में कई वस्तुओं पर कमी बेशी की गई जिसके वजह कर व्यवसाईयों को रिटरन भरने में काफ़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है |
इसके वजह कर इसके रिटर्न फॉर्म भरने की परेशानी को देखते हुए कई बार रिटर्न फॉर्म की प्रक्रिया एवं उसके आकार-प्रकार में तथा फॉर्म में कई बार संशोधन करके नया फॉर्म निकाला गया जिससे व्यवसाइयों को उनको टैक्स रिटर्न भरने में आसानी उपलब्ध कराई गई यह अलग बात है कि बहुत से व्यवसाइयों ने चोरी के माध्यम से कच्चा बिल पर भी व्यवसाय करना शुरू कर दिया है इस जीएसटी के कानूनों के प्रावधानों के अंतर्गत व्यवसाय भी अपने तौर पर कागजी खानापूर्ति कर रहे हैं। अपने आयोजित प्रोग्राम में वाणिज्य कर उपायुक्त दुर्गा प्रसाद मंडल ने बताया कि जीएसटी लागू हो जाने के कारण कचोरी में लगाम लगा है उन्होंने आगे बताया कि जीएसटी रिटर्न नहीं भरने वाले व्यवसाइयों को चिन्हित कर उनको जुर्माने की राशि कम से कम 10000 वसूला जाएगा।
वाणिज्य कर उपायुक्त दुर्गा प्रसाद मंडल ने व्यवसायियों को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोग अपने व्यवसाय से संबंधित टैक्स रिटर्न भरने के लिए समय पर वाणिज्य कर आयुक्त के कार्यालय से संपर्क बना कर टैक्स रिटर्न भरने में आने वाली कठिनाइयों का निराकरण करा सकते हैं। वाणिज्य कर उपायुक्त ने व्यवसायियों की बैठक में आग्रह किया कि आप सभी व्यवसाई वर्ग के लोग टैक्स चोरी करने से बचें और कच्चे पुर्जा पर माल मंगा कर बेचना छोड़ दे अन्यथा पाए जाने पर जुर्माने के साथ जेल की हवा खानी पड़ेगी। सरकार की टैक्स चोरी करने वालों को कहीं कोई गुंजाइश नहीं है इसलिए आप लोगों से अनुरोध है कि साफ सुथरा व्यवसाय करें और समय पर टैक्स रिटर्न जमा करो सरकार को लाभ पहुंचा है।
 
रिपोर्ट विजय कुमार शर्मा ibn24x7news पश्चिमी चंपारण बिहार

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

नहीं रहे सीडीएस जनरल बिपिन रावत, भारतीय वायु सेना ने की मौत की पुष्टि

नहीं रहे सीडीएस जनरल बिपिन रावत, भारतीय वायु सेना ने की मौत की पुष्टि हेलिकॉप्टर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.