Breaking News

बहराइच: साक्ष्य भेजिए डीआईओएस पर होगी कार्यवाही-उप मुख्यमंत्री

साक्ष्य भेजिए डीआईओएस पर होगी कार्यवाही-उप मुख्यमंत्री
बहराइच- कैबिनेट मंत्री सहकारिता विभाग,मुकुट बिहारी वर्मा के पौत्र के मुंडन संस्कार में शिरकत करने आये उप मुख्य मंत्री दिनेश शर्मा द्वारा शिक्षा से जुड़ीं समस्याओं व आगामी बोर्ड परीक्षाओं में नक़ल विहीन परीक्षा को लेकर नगर के निरीक्षण भवन में पत्रकारों के साथ एक बैठक भी की गई।
पत्रकारों को संबोधित करते हुवे श्री शर्मा द्वारा कहा गया कि पहले जहाँ बोर्ड की परीक्षाएं लंबे लंबे अंतराल तक चला करती थीं उस क्रम को तोड़ने के लिए हमारी सरकार ने क्रांतिकारी परिवर्तन लाते हुवे उस समय उबाऊ दायरे को काफी हद तक सीमित कर सोलह दिवसों में ही बोर्ड परीक्षाओं को सीमित कर शिक्षा पर बर्बाद हो रहे धन पर भी अंकुश लगा दिया।
उन्होंने कहा सीबीएसई बोर्ड परीक्षार्थियों को मिल रहे 90-95 प्रतिशत अंको की तुलना में यू0पी0 बोर्ड के ज्यादातर परीक्षार्थियों को मिल रहे 55-60 फीसदी अंकों को देखते हुवे हमने एनसीआरटी पद्धति शिक्षा प्रणाली लागू कर दिया जिसमें अंको को लेकर गुणात्मक सुधार भी देखने को मिला।
श्री शर्मा द्वारा कहा गया कि आज की जो बैठक की गई है वह नक़ल विहीन परीक्षा करने को लेकर की गई है,और इस मामले में जो भी शिकायतें आएँगी उसमे जांच की पारदर्शिता बनाए रखने के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी उसकी स्कुटनिंग करेंगे जिसमे आये परिणामों की समीक्षा जिले के जिलाधिकारी व बाद में शाशन स्तर पर शिकायतों की समीक्षा की जायेगी।उन्होंने परीक्षा केंद्रों को लेकर पूरी पारदर्शिता बरते जाने की बात कहने के साथ सरकारी विद्यालयों को ही प्रथम प्राथमिकता दिए जाने को कहा।शिक्षा को लेकर श्री शर्मा द्वारा की जा रही अन्य बातों के बीच जब पत्रकारों के सवाल शुरू हुवे तो पूरा मामला ही शिक्षा और परीक्षाओं से पलटकर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण ही केंद्र बिंदु बनता रहा |
इस दौरान शिक्षा से सम्बंधित गुमराह हो रहे सवालों के बीच गोपाल शर्मा द्वारा स्कूलों, विद्यालयों में अध्यापको की कमी व एक पत्रकार द्वारा एनजीओ के माध्यम से शिक्षकों की हो रही भर्ती प्रक्रिया जैसे सवाल पूँछकर मामले को मुद्दे पर लाने का प्रयास जरूर किया गया लेकिन परीक्षा के साथ साथ होने वाले आगामी लोक सभा चुनाव के मद्देनजर राम मंदिर निर्माण का मामला ही गूंजता रहा।इसी बीच जब हमारे बहराइच प्रभारी द्वारा श्री शर्मा से यह पूंछा गया कि जिले के डीआईओएस पर पिछले काफी अर्से से लगातार भ्रष्टाचार के आरोप लगते रहे हैं ऐसे में इस जिले में नक़ल विहीन परीक्षा की उम्मीद कैसे की जाय,तो उन्होंने कहा इस बार कोई भी भ्रष्टाचारी बचने नहीं पायेगा,आप साक्ष्य भेजिए डीआईओएस पर भी कार्यवाही की जायेगी।
मालूम हो कि विगत दो वर्षों से डीआईओएस राजेंद्र कुमार पांडे के सरंक्षण में करवाई जा रही बोर्ड परीक्षाओं में सरकार के नक़ल विहीन परीक्षा के दावों को न सिर्फ पलीता लगता रहा है बल्कि नक़ल के साथ साथ क्षात्र-क्षात्राओं के स्थान पर दूसरे परीक्षात्री परीक्षा देते रहे हैं।प्रथम प्रश्नपत्र के स्थान पर दूसरे प्रश्नपत्र खोले जाने के बाद भी कोई सकारात्मक परिणाम नहीं दिखा,खुद शिक्षा विभाग के लोगों द्वारा श्री पांडे की भ्रष्टता को लेकर इन पर गंभीर आरोप लगाए जाते रहे।कई मामले में श्री पांडे की भ्रष्टता को लेकर जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव को भी संज्ञान लेना पड़ा,शिक्षको की भर्ती में हुवे भ्रष्टाचार को लेकर इनका नाम प्रमुखता से आता रहा|
इनके द्वारा समय समय पर प्रशाशन के साथ साथ शाशन को भी कई भ्रामक जानकारियां भेजी जाती रहीं।चाहे राहत जनता इंटर कॉलेज नानपारा में हुई नियुक्तियों का मामला हो या शारदा सहायक परियोजना इंटर कॉलेज में चतुर्थ श्रेणी में हुई अवैध नियुक्ति के साथ साथ लाखों के घोटाले का मामला हो उसमे श्री पांडे की संलिप्तता उजागर होती रही है।ऐसे में उप मुख्यमंत्री व माध्यमिक शिक्षा मंत्री द्वारा आगामी होने वाली बोर्ड परीक्षाओं में नक़ल विहीन परीक्षा को लेकर पत्रकारों के साथ की गई यह आकस्मिक बैठक उक्त डीआईओएस के रहते कैसे सफल हो पायेगी, इसके लिए होने वाली एक और बोर्ड परीक्षा के परिणामो का इन्तजार करना पड़ेगा।
 
रिपोर्ट विवेक कुमार श्रीवास्तव ibn24x7news बहराइच

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

हरिजन बस्ती की जमीन को भूमाफिया ने जबरन किया कब्ज़ा

  रिपोर्ट रमेश चन्द्र त्रिपाठी   गोरखपुर। सहजनवां तहसील अंतर्गत गीडा थाने में ग्राम बोक्टा …

Leave a Reply

Your email address will not be published.