Breaking News

फरीदाबाद – एशिया पेसिफिक क्वार्टरली मीट- फर्स्ट एड विजन 2030 पर विशेष वर्चुअल मीट

Ibn news फरीदाबाद से खुशी वत्स की रिपोर्ट

फरीदाबाद:- इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेडक्रॉस द्वारा क्वार्टरली जूम मीटिंग के अंतर्गत एशिया पैसिफिक फर्स्ट एड जूम मीट का वर्चुअल आयोजन किया गया। इस ऑनलाइन मीट में भारत, मलेशिया, चीन, श्रीलंका, बांग्लादेश सहित एशिया पैसिफिक क्षेत्र के विभिन्न देशों से 53 से भी अधिक रैड क्रॉस राष्ट्रीय प्रतिनिधियों और नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर एवम फर्स्ट एड ट्रेनर सम्मिलित हुए। इस क्वार्टरली आयोजित की जाने वाली ऑनलाइन मीट में कोविड 19 के अंतर्गत प्राथमिक चिकित्सा अर्थात विजन फर्स्ट एड 2030 एवम फर्स्ट एड के महत्व पर वार्ता की गई। फर्स्ट एड मीट में होस्ट सलोमी बौसिफ फर्स्ट एड ऑफिसर ने कुलालालमपुर से वर्चुअल मीट का आयोजन एवम संचालन किया। राष्ट्रीय मुख्यालय भारत नई दिल्ली एवम हरियाणा राज्य रेडक्रॉस से नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर इस वर्चुअल मीट में सम्मिलित हुए। गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल एन आई तीन फरीदाबाद के जूनियर रेडक्रॉस काउन्सलर, सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड अधिकारी एवम नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर प्रिंसिपल रविंद्र कुमार मनचन्दा भी इस वर्चुअल मीट में सम्मिलित हुए। आई एफ आर सी के स्थानीय प्रतिनिधि सलोमी बूसिफ ने कहा कि कोविड 19 के समय में सभी प्राथमिक सहायता ट्रेनर्स की भूमिका बढ़ जाती है तथा स्थानीय ट्रेनर्स एवम प्रशिक्षुओं को ट्रेनिंग मैनुअल के बारे में एवम समय समय पर फर्स्ट एड की नवीनतम तकनीक और हो रहे परिवर्तन की जानकारी होना अति आवश्यक है। आज की बैठक में हरियाणा सैंट जॉन एंबुलेंस से स्टेट ट्रेनिंग ऑफिसर और जिला फरीदाबाद ट्रेनिंग ऑफिसर एवम दो अन्य नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर भी इस वर्चुअल मीट में सम्मिलित हुए। नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि इस मीट में फर्स्ट एड विजन 2030 के संदर्भ में फर्स्ट एड ट्रेनिंग योजना के बारे में बताया गया। हांगकांग के रेडक्रॉस प्रतिनिधि बारबरा ने बताया कि वे किस प्रकार युवाओं और अन्य प्रशिक्षुओं को ऑनलाइन विडियोज तथा यू ट्यूब एवम अन्य ऑनलाइन माध्यम से विस्तृत फर्स्ट एड प्रशिक्षण उपलब्ध करवा रहे हैं। सलोमी बुसिफ ने ब्लेंडेड लर्निंग के बारे में प्रेजेंटेशन दी, उन्होंने फर्स्ट एड ट्रेनिंग देने के लिए प्रॉपर टूल्स, इंटरनेट, डिजिटल प्लेटफार्म की सभी तक पहुंच और उपलब्धता को भी अनिवार्य बताया। प्रशिक्षुओं के लिए फर्स्ट एड की फॉर्मल एजुकेशन, सेल्फ गाइडेड और इंडिपेंडेंट लर्निंग एवम फैसिलिटेटर या ट्रेनर द्वारा सुपरवाइज्ड लर्निंग जैसे स्टेप्स को बहुत ही अनिवार्य बताया। इस के अतिरिक्त डेफिब्रिलेटर, साइकोलॉजिकल फर्स्ट एड, ऑनलाइन फर्स्ट एड कोर्सेज तथा ब्लीडिंग, एब्डोमेनियल वुंड, चेस्ट पैन, कंवल्जन और सीजर के बारे में प्रोसीजर बताया। हरियाणा के मास्टर ट्रेनरस ने सभी विशेषज्ञों का सुंदर आयोजन के लिए बहुत बहुत आभार और अभिनंदन किया।

About IBN NEWS

Check Also

फरीदाबाद-दीपक हत्याकांड मामले में क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट फरीदाबाद:4 दिन पहले पुलिस चौकी एनआईटी 3 एरिया में लड़ाई …