Breaking News

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 देश को विकसित करने में कारगर सिद्ध होगी:राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट

फरीदाबाद:हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा सरकार विद्यार्थियों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देकर महत्वपूर्ण कार्य कर कर रही है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुसार विद्यार्थियों को हुनरमंद हुनर के अनुसार शिक्षा देने का काम सरकार द्वारा किया जा रहा है। बच्चे बड़े होकर अपने हुनर के क्षेत्र में काम करेंगें और उसका बेहतर क्रियान्वयन करेंगें। यह सरकार की नई शिक्षा नीति का ही बेहतर परिणाम होगा। जिससे इस शिक्षा नीति के बेहतर क्रियान्वयन से राष्ट्र के विकसित निर्माण करने में विद्यार्थियों का अहम योगदान होगा। जिस बच्चे की अच्छी कौशल विकसित होगी तो वह उसका व्यक्तित्व भी बढ़ेगा और वह आत्मनिर्भर भी होगा।
महामहिम राज्यपाल बण्डारू दत्ता त्रेय आज मंगलवार को स्थानीय सूरजकुडं के विवान्ता बाई ताज होटल में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव की श्रंखला में प्राइड आफ इण्डिया अवार्ड-2022 के कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर हरियाणा एजुकेशन क्लब द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। यह कार्यक्रम हरियाणा एजुकेशन क्लब द्वारा आयोजित किया गया। महामहिम राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि देश की शिक्षा नीति के बेहतर क्रियान्वयन से टेक्नोलॉजी में और भी बहुत बढ़ोतरी होगी। हमारा देश विश्व के अन्य देशों के मुकाबले टेक्नोलॉजी में बहुत आगे बढ़ चुका है। नई नई टेक्नोलॉजी का विद्यार्थी क्रियान्वित कर रहे हैं। हमारे देश के लगभग 8 से 10 करोड़ लोग विदेशों में अच्छे-अच्छे पदों पर नौकरियां कर रहे हैं। अमेरिका जैसे देश में आईटी क्षेत्र में भारत के लोग बेहतर कार्य करें हैं। इससे बड़ी बात और हमारे लिए क्या हो सकती है। महामहिम राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा एजुकेटर्स क्लब द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में शामिल होकर बहुत खुशी का अनुभव कर रहा हूं। उन्होंने प्राईड ऑफ इंडिया पुरस्कार से नवाजे गए सभी शिक्षाविदों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी। महामहिम राज्यपाल ने कहा कि मुझे गर्व है कि हरियाणा एजुकेटर्स क्लब युवा पीढ़ी को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर देश के भविष्य को बेहद सुन्दर आकार देने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है। आजादी के अमृतकाल में आयोजित प्राईड ऑफ इंडिया समारोह शिक्षक, छात्रों और अभिभावकगण के बीच समन्वय बनाने में कारगर सिद्ध होगा। महामहिम राज्यपाल बंडारू दत्ता त्रेय ने कहा कि मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति -2020 में मूल्य आधारित शिक्षा,रोजगार ही कुल्ल कौशल व व्यवसायिक शिक्षा तथा बच्चों के समग्र विकास पर जोर दिया गया है। नई शिक्षा नीति में यह भी प्रावधान किया गया है कि बच्चों को प्राईमरी व उच्च शिक्षा से ही उनकी रूचि अनुसार कौशल शिक्षा दी जाए ताकि ये बच्चे बड़े होकर स्टार्ट-अप के क्षेत्र में काम करें। महामहिम राज्यपाल ने कहा कि यहां स्पष्ट कर दूं कि स्वास्थ्य और शिक्षा पैसे कमाने के लिए नहीं हैं। ये मानव संसाधन विकास के दो महत्वपूर्ण स्तंभ हैं,जिनसे न तो समझौता किया जा सकता है और न ही व्यापार किया जा सकता है। आज कम्पीटीशन का युग है। ऐसे में अंग्रेजी के मंहगे स्कूलो में पढ़े हुए बच्चे आगे निकल जाते हैं और ग्रामीण बच्चे अंग्रेजी न आने से हीन भावना का शिकार हो जाते हैं। हमें ग्रामीण क्षेत्र व गरीब बच्चों को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान देना है। लेकिन मातृभाषा को प्राथमिकता देते हुए करना है। महामहिम राज्यपाल ने कहा कि 70 साल में पहली बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में तैयार की गई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में मातृभाषा को बढ़ावा दिया गया है। इससे ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे सभी प्रकार की शिक्षा अपनी मातृभाषा में ग्रहण कर काम्पीटिशन में आगे निकल पाएगें ।मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हरियाणा सरकार द्वारा सुपर-100 कार्यक्रम के तहत गरीब मेधावी छात्रों को जेईई-नीट परीक्षा के लिए निःशुल्क कोचिंग दी जा रही है। इस साल सुपर-100 कार्यक्रम के 41 छात्रों को आईआईटी में दाखिले के लिए चुना गया है। यह हम सबके लिए गर्व की बात है। सरकार की तर्ज पर एजुकेटर्स क्लब व शिक्षा से जुड़ी अन्य संस्थाए व संगठन भी गरीब बच्चों को आगे बढ़ाने के लिए ऐसे कार्यक्रम चलाएं। जिससे ज्यादा से ज्यादा गरीब वर्ग के बच्चों को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि हमारे उच्च शिक्षण संस्थानों को पारिस्थितिकी तंत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स,ब्लॉकचेन, कंप्यूटिंग पावर,स्मार्ट डिवाइसेज, मशीन लर्निंग,एक्सटेंडेड रियलिटी,डिजिटल ट्रस्ट,3डी प्रिंटिंग,जीनोमिक्स,न्यू एनर्जी सॉल्यूशंस जैसी नई तकनीकों के साथ स्कूल स्तर पर ही जोड़ना चाहिए। इससे बच्चों के लिए रोजगार के रास्ते खुलेगें। महामहिम राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि मैं कह सकता हूं कि वर्ष 2030 तक देश में तीस करोड़ रोजगार सृजित होंगें और इनडिजीटल मोडस में प्रशिक्षित बच्चों को रोजगार के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा ।
महामहिम राज्यपाल बण्डारू दत्ता त्रेय ने कहा कि गत सप्ताह ही मैंने विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय का दौरा कर व कई आधुनिक लैबों का जायजा लिया और इनोवेशन कौशल मॉडल स्कूल का शुभांरभ किया। यह स्कूल पूरे देश में अपनी तरह का स्कूल है। मेरा आपसे अनुरोध है कि आज कौशल शिक्षा की मांग को देखते हुए शिक्षण संस्थाएं स्किल कक्षाओं की व्यवस्था करें। इसके साथ-साथ सभी स्कूलों में एक-एक पीरीयड (कक्षा) ऐसी होनी चाहिए जिसमें संवैधानिक व भारतीय मूल्यों,देशभक्ति,समानता,न्याय और बंधुत्व के बारे छात्रों को शिक्षा दी जाए ताकि हमारे स्कूल आदर्श नागरिक बना सकें।बच्चों में शुरू से ही मूल्यों,अनुशासन, व्यवहारिक शिष्टाचार और देश के प्रति प्रेम का झुकाव होना चाहिए। हमें बच्चों का नेशन फर्स्ट की भावना के साथ सर्वागींण विकास करना है।प्रत्येक बच्चे को स्काउट्स एनसीसी,एनएसएस, खेल और कई अन्य रचनात्मक गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करें,जिसके लिए हमारे स्कूल परिसर में एक आधारभूत तंत्र की आवश्यकता है। इसे बच्चों में चरित्र और संस्कारों का विकास होगा। महामहिम राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने हरियाणा एजुकेटर्स क्लब के सभी पदाधिकारियों एवं सदस्यों से अपील करते हुए कहा कि वे अपने आस पास के क्षेत्रों को गोद लेकर उन्हें टीबी के खतरे से मुक्त करने के लिए शुरू किए गए टी.बी मुक्त भारत अभियान से जुड़ें। इससे भारत और हरियाणा को टीबी मुक्त बनाने में आपका महत्वपूर्ण योगदान होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा एजुकेटर्स क्लब को यह महत्वपूर्ण सम्मान समारोह आयोजित करने पर हार्दिक बधाई व शुभकामनांए प्रदान की। महामहिम राज्यपाल ने कहा कि मेरा मानना है कि यह समारोह शिक्षा के सुधार में भी एक मील का पत्थर साबित होगा।
इस अवसर पर हरियाणा एजुकेशन क्लब के प्रधान डाक्टर रमेश डागर ने महामहिम राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय का कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने पर क्लब की तरफ से तहेदिल से उनकी भूरी भूरी प्रशंसा करके स्वागत किया।
वहीं हरियाणा एजुकेशन क्लब सीनियर प्रतिनिधि सीबी रावल ने महामहिम राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय का हरियाणा एजुकेशन क्लब की तरफ से समापन समारोह में धन्यवाद किया। राष्ट्रीय गीत के साथ कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया और समापन भी राष्ट्रीय गीत के साथ हुआ। विद्यार्थियों द्वारा सरस्वती वंदना और गणेश वन्दना तथा अन्य सास्कृतिक कार्यक्रमों की मनमोहक प्रस्तुति दी गई। वहीं पुलिस की टुकड़ी द्वारा महामहिम राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय जी गार्ड आफ आनर देकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री सन्दीप जोशी,डीसीपी नितीश अग्रवाल,एसडीएम पंकज सेतिया,हरियाणा एजुकेशन क्लब के प्रधान डाक्टर रमेश डागर,कोर्डिनेटर अनिल रावल,गौरव पराशर,दीपक यादव,उद्यम सिंह अधाना,अजीत डागर,डाक्टर सीवी सिंह,राखी शर्मा,वजीर डागर सहित अन्य शिक्षा विद् मौजूद रहे।

About IBN NEWS

Check Also

गांवों में विकास का आधार होते है पार्षद:पंडित सुरेंद्र शर्मा बबली

  फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट फरीदाबाद:जिला परिषद के घोषित परिणामों में वार्ड नंबर छह …