Breaking News

झाँसी: ग्राम स्यावनी बुजुर्ग में भारतीय किसान यूनियन के तत्वावधान में आयोजित किसान चौपाल में समस्याओं का लगा अम्बार

ग्राम स्यावनी बुजुर्ग में भारतीय किसान यूनियन के तत्वावधान में आयोजित किसान चौपाल में समस्याओं का लगा अम्बार
झाँसी 3 जून। जनपद झाँसी की तहसील मऊरानीपुर क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम स्यावनी बुजुर्ग में भारतीय किसान यूनियन (भानु) के तत्वावधान में किसान चौपाल का आयोजन समाजसेवी राजेन्द्र राहुल की अध्यक्षता में हुआ। चौपाल में पेयजल, प्रधानमंत्री आवास , स्वच्छ शौचालय, राशन कार्ड, वृद्वा पेंशन, विधवा पेंशन ,राशन न मिलना, सूखा राहत राशि का वितरण और बीमा कम्पनियों द्वारा भ्रष्टाचार का मुद्दा छाया रहा ।
किसान यूनियन के तत्वावधान में आयोजित चौपाल में गाँव स्यावनी बुजुर्ग के किसान तुलसीदास अहिरवार ने बताया कि शासन द्वारा चलायी जा रही योजना किसानों तक नही पहुँच रही। किसान दर- दर की ठोकर खाने को मजबूर है। नेहा रायकवार ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में हम लोगों को आवास नही मिल रहा है । तहसील अध्यक्ष रामचन्द्र बुढिया ने बताया कि महिलाओं का राशन कार्ड नही बन रहा उल्टे उनके बने बनाये कार्ड निरस्त कर दिये गये। मनीष शर्मा (वीनू) ने कहा बैंक केसीसी बनवाने हेतु दलालों के माध्यम से कमीशन वसूला जा रहा है। किसान सूखे से परेशान होकर रोजगार की तलाश में पलायन कर रहा है।
रामाधार निषाद ने कहा कि शासन प्रशासन अगर हम किसानों को नही सुनता तो हम लोग उग्र आन्दोलन को मजबूर होगें। प्यारे लाल बेधडक ने कहा कि किसान आज दर- दर की ठोकर खाने को मजबूर है। अधिकारी काम नही करते। भारतीय किसान यूनियन (भानु) के बुन्देलखण्ड अध्यक्ष शिवनारायण सिंह परिहार ने कहा बुन्देलखण्ड का किसान आज के समय में चारों ओर से कर्ज से घिर चुका है। किसान को कोई रास्ता नही सूझ रहा है। बार- बार आन्दोलन करना अब किसानों की रोजमर्रा जिन्दगी में सुमार हो चुका है। क्षेत्र में न बिजली है, न पानी है योजनाओं का लाभ गरीब किसानों को न मिलकर रसूकदार लोगों को दिया जा रहा है। जो कि अन्याय है।
आने वाले समय में किसान रोड पर उतरकर उग्र आन्देलन करने को मजबूर होगा। चौपाल की अध्यक्षता कर रहे समाजसेवी राजेन्द्र राहुल ने कहा कि किसानों की समस्याओं और नगरवासियों के लिये पेयजल की समस्या कई बार ज्ञापन के माध्यम से दी गयी। लेकिन कोई भी सुनवाई नही हुयी। हमारी माँग है शासन गरीबों की सुनें जिससे कोई किसान आत्महत्या न करे। और रोजगार के लिये पलायन न करे।
चौपाल में नेहा देवी, मेघा, पुक्खन, ममता देवी, लांडकुवर, रामसखी, देविका, मानकुंवर, सुमिता, भगवती, शान्ति, रामरती , कुंवर बाई, अशोक, कमला देवी, भुवानी, मुन्नी देवी, गौरी बाई, कस्तूरी, गुनिया, प्रभा देवी, श्याम बाई, पुष्पा देवी, खिलन, ज्ञान देवी, कुसुमा , ममता देवी, रामकुमारी, मक्खन देवी, रामकली, कुन्ती, पानकुंवर, सरोज, गुड्डी, हीरा देवी, दुर्गा, पुष्पा, विनीता, सखी, मनोज कुमार, अरविन्द्र, देवेन्द्र, बसन्ते, धर्मेन्द्र, किशोरी, भूपेन्द्र, मोहित आदि उपस्थित रहे।
 
रिपोर्ट  महेन्द्र सिंह सोलंकी ibn24x7news झाँसी

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

मोदी सरकार ने अग्रेजो के बनाये कानून में किया बड़ा बदलाव अब 24 घण्टे होगा पोस्टमार्टम

  केंद्र सरकार ने हत्या, आत्महत्या, बलात्कार, क्षत-विक्षत शव और संदिग्ध मामलों को छोड़कर, उचित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *