Breaking News

गाजीपुर:- बहन को छेडता था अफसर भाईयो ने बेरहमी से गला रेत कर दी नृशंस हत्या

ब्यूरो रिपोर्ट राकेश पाण्डेय IBN NEWS गाजीपुर

गाजीपुर : बीते दिनों जमानिया कोतवाली क्षेत्र के खिजिरपुर अलीपुर में हुई युवक की हत्या की वारदात का जमानिया कोतवाली पुलिस और एसओजी टीम ने 36 घंटा में पर्दाफाश कर दिया। मंगलवार को पुलिस कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक रोहन पी बोत्रे ने गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों को मीडिया से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि लव अफेयर मामले को लेकर अफसर उर्फ टीपू की हत्या की वारदात हुई थी।

एसपी ने बताया कि बीते 31 जुलाई की सुबह पुलिस को सूचना मिली थी कि जमानिया क्षेत्र के खिजिरपुर अलीनगर निवासी अफसर उर्फ टीपू पुत्र अब्दुल कादिर की अज्ञात अपराधियों द्वारा गला काटकर निर्मम हत्या कर दी गई है। सूचना पर स्थानीय पुलिस सहित मैं खुद मौके पर पहुंचा था और परिजनों से मामले की जानकारी ली थी। मृतक के परिजनों के बयानों व तमाम स्वतंत्र गवाहों से प्रथम दृष्टया आशनाई का मामला होना पाया गया था।

मृतक के भाई असरफ द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया था। कोतवाली पुलिस और स्वाट टीम लगातार मामले का खुलासा करने में लगी हुई थी। इसी क्रम में बीते सोमवार की रात करीब साढ़े आठ बजे मुखबिर की सूचना पर जमानिया क्षेत्र के ताजपुर चट्टी से प्रभारी निरीक्षक व स्वाट टीम ने अभियुक्तगण भाइयों अरबाज व मेराज को गिरफ्तार किया। उनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू व अभियुक्तगण द्वारा वारदात के समय पहने हुए कपड़े को बरामद किया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अभियुक्तों से पूछताछ में वारदात के पीछे यह बात सामने आई है कि मृतक अफसर उर्फ टीपू का करीब एक साल पहले से अपने ही पड़ोस की एक लड़की से लव अफेयर चल रहा था और वह उससे शादी करना चाहता था। इस बात को लेकर लड़की के परिवार से मृतक का झगडा भी हुआ था।

बीते 29 जुलाई को मृतक अफसर उर्फ टीपू मौका पाकर लड़की के घर के बगल ही शाम को उसका दुपट्टा खींचते हुए अपने प्यार का इजहार किया था। इस बात की जानकारी लड़की के भाइयों मेराज आलम व अरबाज हो गई थी। दोनों भाइयों ने टीपू का काम तमाम करने की योजना बनाई। 30 जुलाई की रात मेराज ने घर के बाहर टीपू को मोबाइल पर बात करते हुए अपनी छत से देख लिया था। इस पर दूसरे भाई अरबाज को अवगत कराते हुए साथ लेकर घर के सामने वाले गलियारे में आए और असरफ उर्फ टीपू को दीवाल से सटाकर खड़े-खड़े ही गले पर चाकू से वार करते हुए काट दिया था, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

अभियुक्तों का संबंधित धाराओं में चालान कर दिया गया। एसपी ने पुलिस टीम को दस हजार का पुरस्कार देने की घोषणा की। गिरफ्तार करने वाली टीम में जमानिया कोतवाली प्रभारी वंदना सिंह, उपनिरीक्षक कृपेन्द्र प्रताप सिंह, कांस्टेबल क्रांति सिंह पटेल, कां. सुबाष यादव, महिला कांस्टेबल शालिनी पाठक और स्वाट टीम के उपनिरीक्षक सुनील तिवारी, हेड कांस्टेबल सुजीत सिंह, कांस्टेबल चन्दनमणि त्रिपाठी, कां. विनय यादव, कां. अजय प्रसाद और कांस्टेबल विकास श्रीवास्तव शामिल थे।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

75वां महोत्सव-भारत छोड़ो आंदोलन और अगस्त क्रांति से अवगत कराया

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट फरीदाबाद:आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के अंतर्गत गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर …