Breaking News

गाजीपुर: गांजा बिक्री का हब बना जिला, पुलिस व ए0ओ0 के नाम पर वसूली कर रहे तस्कर चर्चा संरक्षक भाजपा के चर्चित नेता का रिश्तेदार

टीम आईबीएन न्यूज

गाजीपुर: सुबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ की मंशा पर जिले भर मे पानी फिर रहा है। सभी ब्लाक मुख्यालयो तहसील मुख्यालयों व छोटे कस्बों में भांग की दुकानों सहित रिहायशी मकानों के अन्दर गांजें का व्यापार तेजी से पाव पसार रहा है। हेरोईन की बिक्री तथा उपलब्धता के लिये तीन दशक से बदनाम इस जिले में पुलिस की सख्ती से हेरोईन तस्कर व व्यापारियों पर कानून का खौफ है जिसके चलते इस जहर का व्यापार सिकुड़ चुका है। लेकिन इसी का लाभ उठाकर आधा दर्जन गांजा तस्कर जनपद को नशे का हब बना दिये है।

बताया जाता है कि एक महीने पूर्व जिले के कुछ पत्रकारों व पत्रकार संगठनो ने मरदह, बिरनो, जखनियाॅ, शादियाबाद, जमानियाॅ, दिलदारनगर, कासिमाबाद के साथ-साथ महराजगंज इलाके सहित शहर कोतवाली क्षेत्र के लंका इलाके में खुलेआम बिक रहे गिजे की विडीयो बनाकर जिलाधिकारी को दिया था। मामले की सूचना पत्रकारों की ओर से मुख्यमंत्री कार्यालय को भी भेजी गयी थी उस समय मौजूदा आबकारी अधिकारी ने मामले पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। समय चुनाव का था और जिलाधिकारी के संज्ञान से ही मामला रूक गया। इसी बीच गांजा तस्करांे ने पहले तो पत्रकारों को धमकी दी जब पुलिस ने सख्ती किया तो कुछ गाजा तस्कर इसमें कठवामोड़ इलाके का पुराना भांग का दुकानदार पिन्टू पाण्डेय बिहार के रहने वाले भांग के ठेकेदार मुन्ना सिंह व मौजूदा एक ब्लाक प्रमुख के भाई व भाजपा के चर्चित नेता के करीबी सहित पाॅच से अधिक गाजा तस्कर मिलकर शहर के एक चर्चित मैरेज हाल में कथित पत्रकारो के साथ बैठक भी किये और मामले को निपटाने का प्रयास भी किये लेकिन मीटिंग में शामिल यूटयूबर जिले भर की मीडिया को मैनेज करने को राजी नही हुये।

बताया जाता है कि जिले के सभी इलाकों में चलने वाली सरकारी भांग की दुकानों का सामूहिक टेण्डर लेकर भाजपा के चर्चित नेता का रिश्तेदार बताने वाला ब्लाक प्रमुख के भाई कठवामोड़ इलाके का पिन्टू पाण्डेय व बिहार का रहने वाला मुन्ना सिंह पिछले कई सालों से उठा रहे है और गिनती के हिसाब से दुकानों का स्थानीय दंबगों व अपराधिक छवि के लोगो को महीने के हिसाब से दे देते है। फिर अपने महीने के साथ-साथ स्थानीय पुलिस प्रशासन के साथ-साथ प्रोबेशन विभाग को मैनेज करने का हवाला देकर हर महीने मोटी रकम वसूलते है और सभी दुकानों से कई कुतल गाजा जिले के नौजवानो तक पहुंच जाता है। यही नही सात महीने पूर्व यहॅा तैनात किये गये आबकारी अधिकारी जैन की सख्ती को देखते हुए इन तस्करों ने अपनी आखें बन्द करने के एवज में जिले के सभी सात आबकारी इन्सपेक्टरों को भी मैनेज कर लिया और आबकारी अधिकारी के नाम पर भी पिछले सात महीनों से इन दुकानों से पैसे ऐठे जा रहे हैं। जबकि आबकारी अधिकारी अपनी ईमानदारी का तमगा लेकर राजधानी से लगायत हाईकोर्ट तक बैठकों और मुकदमो में व्यस्त है।

नाम न छापने व वीडियो वायरल न करने के शर्त पर आईबीएन से हुई आधा दर्जन भाग के दुकानदारो की बातचीत के बाद जब यह मामला प्रकाश मे आया तो लोग चैक गये यही नही जिले में इन तीन तस्करों की तिकड़ी ने दर्जन भर ऐसी भाग की दुकाने खोल रखी है जिनकी सूचना आबकारी अधिकारी व इस्ंपेक्टरो को भी नही है। पत्रकारों की शिकायत के बाद ढीली पड़ी जिलाधिकारी व असहज आबकारी अधिकारी को तमाम ऐसी बाते पता ही नही है जो जिले में पिछले एक दशक से गाजें का कारोबार कर रहे तस्करों की इस तिकड़ी तक पंहुच सके। जिले भर मे गाजा बिक्री का काम तेजी से जारी है। चर्चा है कि चर्चित भाजपा नेता का रिश्तेदार बताने वाले ब्लाक प्रमुख के भाई ने बड़ा जुगाड़ लगा दिया है ताकि जिले में गांजे का धंधा अनवरत जारी रहे। पिछले सप्ताह ही सूबे की मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था की बैठक के दौरान प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों, पुलिस कप्तानो व आबकारी अधिकारियो को कड़े निर्देश दिये है और कहा है कि लुटेरों हत्यारों सहित भूमाफियाओं के बाद अब नशा तस्करों व सहयोगियो पर कड़ी कार्यवाही की जाय। देखना यह है कि मौजूदा जिलाधिकारी मामले का संज्ञान लेती है कि नहीं।

राकेश की रिपोर्ट

About IBN NEWS

Check Also

बिग ब्रेकिंग सपा की पूर्व विधायक एमएलसी लीलावती कुशवाहा के खिलाफ दर्ज होगा मुकदमा

अयोध्या ब्यूरो कामता शर्मा अयोध्या। सपा की पूर्व विधायक एमएलसी लीलावती कुशवाहा के खिलाफ दर्ज …