Breaking News

उत्तर प्रदेश  बना विकास और खुशहाली का नया माडल : डा दिनेश शर्मा

 

एक्सप्रेस वे , बेहतर कानून व्यवस्था ,  नई स्थापित होती औद्योगिक यूनिट , खुशहाल किसान  व  नौजवान  आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश की पहचान

दमदार और असरदार  सरकार के राज्य में  अपराध और अपराधियों के लिए  कोई जगह नहीं 

चार साल में यूपी बना 22 लाख करोड की अर्थव्यवस्था , दोगुनी हुई प्रतिव्यक्ति आय

चार वर्षं में साढ़े चार लाख युवाओं को दिए  सरकारी नौकरियों के नियुक्ति पत्र

कोविड टीकाकरण में यूपी नम्बर वन 

भ्रष्टाचारमुक्त शासन की परिकल्पना को  किया साकार 

यूपी की  शिक्षा व्यवस्था के बदलावो को दूसरे राज्य भी अपना रहे 

पाठ्यक्रम में परिवर्तन ने विद्यार्थियों को बनाया प्रतिस्पर्धी  , पैदा हुए  नए अवसरों 

नकलविहीन परीक्षा का माडल बना यूपी 

अन्नदाता की आर्थिक समृद्धि के लिए सरकार ने नहीं आने दी धन की कमी

अविरल निर्मल गंगा का सपना हो रहा है साकार 

दीपोत्सव ने दी अयोध्या को नई पहचान 

नई दिल्ली / लखनऊ। उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश विकास और खुशहाली का नया माडल बन रहा है। एक्सप्रेस वे , बेहतर कानून व्यवस्था ,  नई स्थापित होती औद्योगिक यूनिट , खुशहाल किसान , नौजवान , महिला एवं आम जन आत्मनिर्भर भारत के आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश की पहचान बन रहे हैं। पिछले साढे चार साल मे हुई तरक्की की यात्रा ने प्रदेश की सूरत  बदल दी है। आज उत्तर प्रदेश का हर क्षेत्र में डंका बज रहा है। आज देश में 44 योजनाओं में यूपी पहले स्थान पर है।  उत्तर प्रदेश  में प्रत्येक क्षेत्र में विकास हुआ  है। चाहे औद्योगिक निवेश हो या योजनाओं का सफल क्रियान्वयन, कानून-व्यवस्था का सुदृढ़ीकरण हो या गरीब किसान की ऋण माफी, हर घर में शौचालय बनाना तथा घर विहीन को घर देने का कार्य उत्तर प्रदेश में किया गया है।  बुनियादी सुविधाओं के विकास से सूबे के विकास को नई रफ्तार मिली है। नागरिकों के जीवन स्तर में सकारात्मक बदलाव आया है। निवेश के मामले में यूपी  निवेशकों  की पहली पसंद बन चुका है।   इंवेस्टर समिट में  हस्ताक्षरित 4.68 करोड के एमओयू में से  3 लाख करोड की परियोजनाएं आरंभ हो चुकी है। कोरोना काल में जब दुनिया के बडे देशों से निवेश वापस जा रहा था उस समय में भी यूपी में  56 हजार करोड के निवेश प्रस्ताव मिले हैं । मुख्यमंत्री  के नेतृत्व में  हो रहे बेहतरीन कार्यों का परिणाम है कि 04 वर्ष में ही 11 लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था 22 लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था बन गयी है, जो देश में दूसरे नम्बर की अर्थव्यवस्था है। सूबे में प्रति व्यक्ति आय दोगुनी हो गई है। विकास आज प्रदेश के हर कोने में देखने को मिलेगा। एक्सप्रेस वे यूपी की पहचान बन रहे हैं  तथा आर्थिक प्रगति में सहायक हो रहे हैं। प्रदेश में करीब 15 हजार किमी सडकें तथा 520 नए पुल का निर्माण हुआ है।   करीब 36400 करोड की लागत से देश का सबसे बडा गंगा एक्सप्रेस वे सूबे में बनने जा रहा है। इसके बनने के बाद करीब 20 हजार लोगों के लिए रोजगार सृजन की संभावना है। युवाओं को रोजगार सरकार की प्राथमिकता है। सरकार का लक्ष्य अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार से जोडक़र प्रदेश को उन्नति प्रदान करना है।  विगत सवा चार वर्षों के दौरान साढ़े चार लाख सरकारी नौकरियों में प्रदेश के युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए जा चुके हैं। इसके अलावा ओडीओपी , मुद्रा योजना  आदि के तहत भी करोडों युवाओं को रोजगार मिला है। अकेले मनरेगा के तहत 51 लाख  श्रमिकों को रोजगार मिला है।   यूपी रक्षा क्षेत्र के निर्माण की भी धुरी बनने जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने विरासत में मिली बदनाम व खस्ताहाल शिक्षा व्यवस्था में आया बदलाव  आज दूसरे प्रदेशों को भी इन बदलावों को अपना रहे हैं।  पिछली सरकारों में नकल के लिए कुख्यात हो  चुका प्रदेश आज नकलविहीन परीक्षा का बेहतरीन माडल बन गया है। तकनीक के प्रयोग से परीक्षा को नयास्वरूप प्रदान किया है। पाठ्यक्रम में परिवर्तन ने विद्यार्थियों को प्रतिस्पर्धी बनाने के साथ ही उनके लिए नए अवसरों को पैदा किया है।  उच्च शिक्षा के प्रसार पर जोर के साथ ही नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन में यूपी अभी तक अव्वल है। भारत को फिर विश्व गुरु के रूप में स्थापित करने के लिए नवाचार पर विशेष फोकस किया  जा रहा है।  3 नए राज्य विश्वविद्यालय , 51 नए महाविद्यालय  , 250 नए इंटर कालेज   ज्ञान के प्रकाश को दूर दूर तक फैलाने में मददगार हो रहे हैं।  वर्तमान सरकार को दमदार और असरदार बताते हुए  उन्होंने कहा कि  अपराध और अपराधियों के लिए प्रदेश में कोई जगह नहीं बची है। अपराधियों के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति के तहत हुई कार्रवाई नें उन्हें प्रदेश छोडने पर मजबूर कर दिया है।  2016 की तुलना में अपराधों में काफी कमी आई है। भ्रष्टाचारमुक्त शासन की परिकल्पना को साकार किया गया है। पिछली सरकारों के घोटालों की  निष्पक्ष जंाच जारी है। करीब 401 भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ  निलम्बन और बर्खास्तगी जैसी कार्रवाई की गई है। भूमाफिया के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनकी करीब 1574 करोड से अधिक की सम्पत्ति जब्त की गई है। डा शर्मा ने कहा कि  कोरोना काल में यूपी सरकार ने अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए  बेहतरीन प्रबन्ध किए । इनकी प्रशंसा डब्लूएचओ ने भी की थी। प्रदेश के नागरिकों को कोविड से सुरक्षा के लिए टीकाकरण तेजी से कराया जा रहा है। उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक टीकाकरण कराने वाला राज्य है। प्रदेश में 8 करोड से अधिक लोगों को टीकाकरण किया जा चुका है। कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचाव के लिए भी पुख्ता तैयारी की जा रही है। आज भी प्रदेश में दो लाख से अधिक कोविड टेस्ट रोज किए जा रहे हैं।  अस्पतालों में करीब 400 से अधिक आक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं।  कोरोना काल में 18 साल से कम आयु के बच्चों को 50 लाख मेडिकल किट वितरण के साथ ही 15 करोड लोगों को मुफ्त अनाज दिया गया । इसके अलावा सवा करोड लोगों को आयुष्मान योजना  के तहत 5 लाख का बीमा प्रदान किया गया है।  अन्नदाता की आर्थिक समृद्धि के लिए सरकार ने धन की कमी नहीं आने दी है तथा हर संभव पाय किए हैं। किसान सम्मान निधि का सबसे अधिक लाभ प्रदेश के किसानों को ही मिल रहा है। प्रदेश में लाकडाउन के दौरान भी पूरी सुरक्षा के साथ चीनी मिलों को संचालन कर किसानों  पर विपरीत प्रभाव नहीं पडने दिया गया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश की सांस्कृति विरासत को सहेजने का काम किया है। भगवान राम की नगरी अयोध्या को दीपोत्सव ने नई पहचान दी है। अविरल निर्मल गंगा का सपना साकार हो रहा है। 

About IBN NEWS

Check Also

फर्जी मुकदमे के खिलाफ आज कांग्रेसियों द्वारा दिया गया ज्ञापन

  रिपोर्ट-सिद्धार्थ तिवारी फ़िरोज़ाबाद आज जिला कांग्रेस और शहर कांग्रेस कमेटी फिरोजाबाद द्वारा संयुक्त रुप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *